लॉकडाउन : 100 किलोमीटर पैदल चलकर परिवार के पास पहुंची 8 माह की गर्भवती महिला...

रविवार को एक ओर जिले के लिए अच्छी खबर इंदौर से आईतो वहीं भानपुरा में विचलित कर देने वाला दृश्य अधिकारियों ने देखा। जिले और प्रशासन के लिए अच्छी खबर यह है कि भीलवाड़ा से आए सातों संदिग्ध मरीजों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। जिसके बाद प्रशासन ने राहत की सांस ली। सातों मरीजों के स्वास्थ्य में सुधार है। तो लगातार पलायन के इस दौर में भानपुरा में एक परिवार १०० किलोमीटर पैदल चलकर अपने गांव मेघनगर जा रहा था। जिसमें एक गर्भवती महिला भी थी। 
भानपुरा पुलिस-प्रशासन द्वारा गर्भवती महिला सहित पूरे परिवार के लिए वाहन की व्यवस्था की गई और गंतव्य तक पहुंचाया। परिवार ने बताया कि कोरोना के कारण मजदूरी का काम बंद हो गया है। और बीमारी का डर है। जिसके कारण वे साधन नहीं होने के कारण पैदल-पैदल ही अपने घर के लिए निकल गए। 

शहर के मदारपुरा, नरसिंहपुरा सहित आसपास के क्षेत्रों की छोटी-छोटी गलियों में युवाओं द्वारा टोलियां बनाकर बाइक व पैदल घूमने की शिकायत लगातार पुलिस को मिल रही थी। रविवार को पुलिसकर्मियों की एक टीम इन ल ापरवाह युवकों के लिए बनाई गई। और इन सभी की घेराबंदी की गईऔर एक-एक को पकड़ा। पुलिसकर्मियों ने इन लापरवाह युवकों से उठक-बैठक लगवाई और थाने पर ले गए। और पुलिस ने घर-घर जाकर उनके माता-पिता को समझाइश भी दी कि ऐसा करने पर इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
Loading...