भारत के इस शहर का कोरोना की वजह से इटली जैसा हाल, 11000 से भी ज्यादा संदिग्ध लोग पाए गए...

राजस्थान में चार शहर ऐसे हो गए हैं, जिनमें कोरोना का कम्यूनिटी इंफेक्शन का खतरा बढ़ गया है। भीलवाड़ा में तो कम्यूनिटी इंफेक्शन फैल चुका है और वहां तीसरे स्तर में पहुंच चुकी है। भीलवाड़ा की सीमाएं एक सप्ताह से सील हैं, इसके बावजूद कोरोना के खाैफ के कारण बड़ी संख्या में भागकर दूसरे जिलों में जा चुके हैं, उनसे भी कम्यूनिटी इंफेक्शन का खतरा है। अब तक प्रदेश में कुल 43 कोरोना पाॅजीटिव पाए गए, जिनमें से अकेले भीलवाड़ा में ही 19 हैं। यहां पर 457 सैंपल में से 19 पाॅजीटिव पाए गए। 
इसके मद्देनज़र यहाँ पर कर्फ्यू लगा दिया गया है। यहाँ की मेडिकल टीम के मुताबिक जिले में 11000 से भी ज्यादा संदिग्ध लोग मौजूद हैं। जिनमें से साढ़े छह हजार लोगों को आइसोलेसन में रखा गया है। भीलवाड़ा मेडिकल कॉलेज के निदेशक डॉ नंदा ने कहा, 'अभी हमारे अस्पताल में 11 कोरोना संक्रमित भर्ती हैं. हमारी क्षमता 100 बिस्तरों की है।इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की मदद से हमने निजी अस्पतालों को जोड़ा है और अभी हमारी क्षमता बढ़कर 450 बिस्तरों की हो गई है। 

किसी भी समय अगर कम्युनिटी आउटब्रेक होता है तो हम मरीजों की देखभाल करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।' वहीं प्रशासन ने यहां लोगों के बीच 35 हजार मास्क बांटे गए हैं। प्रशासन के पास 35 हजार और मास्क पहुंच चुके हैं। पूरे शहर में आग को गिने चुने लोग ही मिलेंगे जो प्रशासन के प्रयासों से संतुष्ट नहीं होंगे। सिविल सोसायटी ने भी इस लॉकडाउन में खासा योगदान दिया है। इसके अलावा गरीब परिवारों की मदद के लिए भी लोग आगे आ रहे हैं। राशन के हर रोज 5500 पैकेट वितरित किए जा रहे हैं।
Loading...