लॉकडाउन : रिक्शा में दिल्ली से 1200 km दूर घर जा रहे चार मजदूर दोस्त!

दिल्ली में काम करने वाले चार दोस्त दिल्ली से रिक्शा में सवार होकर निकले है। तीन दिन में यह लोग 200 किमी की यात्रा कर पाएं है। अपने घर तक पहुंचने के लिए अभी एक हजार किमी यात्रा और करनी है। घर पर कब पहुंचेंगे इन्हें अभी नहीं पता। संभावना है कि दस दिन का समय लग जाएगा।
बिहार के जनपद खगड़िया के थाना चौयम क्षेत्र के गांव लगोरा निवासी भानू यादव और आासपास के गांव के रघुनंदन, राहुल और पिंटू दिल्ली में आजाद मार्केट में कांप्लेक्स में नौकरी करते थे। इन्हें पगार के रुप में सात से आठ हजार रुपया मिलता था। दुकान पर काम करने के यह लोग फुटपाथ पर ही रहते थे। देश भर में लॉकडाउन का ऐलान हुआ। दो दिन तक तक फुटपाथ रहे, लेकिन बाहर किसी ने रहने नहीं दिया। दुकान के मालिक से फोन पर संपर्क किया। उन्होंने कह दिया अभी तुम चले जाओ। यह बात सुन यह लोग दंग रह गए। घर कैसे पहुंचे इसके लिए वाहन की तलाश की गई। 

कोई वाहन नहीं मिला तो एक रिक्शा मिल गया। इस रिक्शा पर चारो लोगों ने अपना-अपना सामान रख लिया। गुरुवार की सुबह घर के लिए निकल दिए। दिल्ली से चलते समय परिवार के लोगों को फोन कर बता दिया कि हम लोग रिक्शा से आ रहे है। कब पहुंचेंगे यह कुछ नहीं बता। दो दिन तक तो मोबाइल फोन चला, लेकिन अब तो वह भी डिस्चार्ज हो गया। 24 घंटें से अधिक का समय हो गया कि घर पर भी संपर्क नहीं हुआ। यहां तक पहुंच गए। पिंटू ने बताया कि यहां तक पहुंच गए। धीरे-धीरे घर पर भी पहुंच जाएगें।
Loading...