पिता के पास 150 एकड़ जमीन, खर्चे पूरे करने के लिए बेटा करता है ठगी, इस तरह देता घटना को अंजाम

पिता के पास 150 एकड़ जमीन है। परिवार भी काफी सम्पन्न है। बेटा अपनी हरकतो के चलते अक्सर घर से गायब रहता। घूमने के लिए वह इंदौर आया तो ऑटो रिक्शा चालक से दोस्ती कर उसे चपत लगा दी। मोबाइल तोडऩे के बाद सिम भी बंद कर दी ताकि पकड़ में नहीं आए। साइबर सेल एसपी जितेंद्र सिंह ने बताया कि राजेश आगार (45) निवासी सुखलिया की रिपोर्ट पर धोखाधड़ी व आईटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया था। 
राजेश ऑटो रिक्शा चालक है। उसके कार्ड का इस्तेमाल कर दो मोबाइल कीमत 68 हजार रुपए खरीदे गए। पैसा खाते से कम होने पर घटना का पता चला। मामले की जांच टीआई अंबरीष मिश्रा, रामपाल पाल, रामप्रकाष बाजपाई, मनोज राठौर, राकेष बामनीया, गजेन्द्र, विजय बडोदकर, दिनेश को सौंपी गई। जांच में आया कि पेटीएम के जरिए ये ट्रांजेक्शन हुए थे। पेटीएम खाता मोहित पटेल (27) निवासी जबलपुर का है। 

टीम ने मोहित को जबलपुर से गिरफ्तार किया। उसके पास से 30 हजार रुपए, मोबाइल सिम बरामद हुए। वर्ष 2019 में एक महीने के लिए मोहित इंदौर आया। सुखलिया में फरियादी के घर के पास वह रहा। इस दौरान उसकी रिक्शा में वह घूमता। दोस्ती करने के बाद कई बार उसने राजेश को नकदी रुपए देकर खाते में पैसा ट्रांसफर करवाया। इस तरह राजेश के कार्ड की जानकारी उसने सेव कर ली।

जिस दिन वह इंदौर से जयपुर जा रहा था तब बस स्टैंड छोडऩे के बहाने राजेश को ले गया। रास्ते में बात करने के बहाने मोबाइल लेकर दो मोबाइल बुक कर लिए। इसके लिए ओटीपी भी आया तो नंबर देखकर मैसेज डिलीट कर दिया। इन मोबाइल की डिलीवरी उसने जयपुर में ली। वह अक्सर घर से गायब रहता है। परिवार काफी सम्पन्न है और उनके पास 150 एकड़ जमीन है। जिस पर वे खेती करते है। पुलिस उसे पकड़ नहीं सके इसलिए अपना मोबाइल तोडकऱ फेंक दिया और सिम बंद कर ली थी। साइबर सेल ने उसे कोर्ट में पेश किया जहां से जेल भेज दिया गया।
Loading...