मोदी सरकार का बड़ा फैसला, 1 अप्रैल से पुरे देश में लागू हो सकते ये हैं बड़े नियम...

कोरोना वायरस से बचने के लिए मोदी सरकार बड़ा कदम उठा रही है। लेकिन भूख सरकार के सामने सबसे बड़ी समस्या है। भारत में बहुत से लोग हर दिन काम करते हैं और अपने परिवार का पालन पोषण करते हैं। विमुद्रीकरण के दूसरे दिन, मोदी सरकार ने जनहित में एक बड़ी घोषणा की, जिसमें अप्रैल के पहले सप्ताह में 2000 से 8 करोड़ 70 लाख किसानों को किस्त देने का दावा किया गया।
बड़ा राहत पैकेज घोषित : वित्त मंत्री अनुराग ठाकुर ने 20 लाख कर्मचारियों के लिए एक राहत पैकेज की घोषणा की, जिन्होंने कोरोना वायरस के खिलाफ इस लड़ाई में अपना अविस्मरणीय समर्थन दिया है। इसके तहत, आशा कार्यकर्ताओं, पैरामेडिकल स्टाफ, तकनीशियनों और डॉक्टरों ने 1 लाख 70 हजार करोड़ के राहत पैकेज का दावा किया।

प्रधान मंत्री खाद्य योजना : कोविद -19 ने पूरी दुनिया में तबाही मचाई है, जिसके कारण अनुराग ठाकुर ने 21 दिनों में प्रधानमंत्री खाद्य योजना के तहत गरीब लोगों को 5 रुपये प्रति किलो गेहूं और 1 रुपये प्रति किलो चावल देने का वादा किया है। कोरोना वायरस से संबंधित सभी प्रकार की सहायता के लिए लगभग सभी राज्यों में कोरोना हेल्पलाइन सेवा शुरू की गई है। मोदी ने स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार के लिए स्वास्थ्य विभाग को 15,000 करोड़ रुपये देने की घोषणा की।
Loading...