लॉकडाउन : 3 विदेशियों को ऋषिकेश में नहीं मिले होटल, खुले आसमान के नीचे बिताई रात...

सरकार द्वारा राज्य में  वायरस के संक्रमण के मध्य नजर किए गए 31 मार्च तक लॉक डाउन के बाद तीन विदेशी ऋषिकेश में फंस गए हैं। जिन्हे ना तो होटल वाला और ना ही धर्मशाला वाले ठहराने के लिए तैयार है। जिसके कारण तीनों ने रविवार की रात खुले आसमान के नीचे बिताई। 
जानकारी के अनुसार, जर्मन निवासी 44 वर्षीय ईगर व उसके साथ दो महिलाएं एडीलीना 35 वर्ष निवासी रसिया तथा एनस तासिया 32वर्ष निवासी रसिया बताए गए हैं। यह गोवा से रविवार को आए थे, लेकिन होटल व धर्मशाला मे स्थान न मिलने के कारण आइएसबीटी के पीछे खुले में रह रहे है, जिनका आइसोलेशन भी किया गया।उन्होंने बताया कि उनकी फ्लाइट भी 05 अप्रैल को वापसी की फ्लाइट है।

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए उत्तराखंड सरकार की ओर से लॉकडाउन किया गया है। सुबह के वक्त काफी दुकानें खुली। लॉकडाउन को देखते हुए लोग सब्जी आदि जरूरी सामान खरीदने के लिए दुकानों पर पहुंच गए। वहीं, रायवाला पुलिस ने रायवाला बाजार में कई खुले व्यापारिक प्रतिष्ठानों को बंद करा दिया है। लोगों को अनावश्यक इधर-उधर आवाजाही के लिए मना किया जा रहा है। ई- रिक्शा, ऑटो, विक्रम को भी सड़क पर नहीं चलने को कहा गया है।

रिक्शा और ऑटो स्टैंड पर खड़े वाहन चालकों को हिदायत देकर वापस घर भेज दिया गया। रायवाला के थाना अध्यक्ष हेमंत खंडूड़ी ने क्षेत्र का निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि लॉक डाउन के तहत आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों के अलावा अन्य किसी को भी इधर से उधर आने जाने की अनुमति नहीं है। आवश्यक सेवाओं की आपूर्ति सुचारू रहे इसके लिए पुलिस प्रशासन लगातार नजर बनाए हुए है। अधिकारियों के निर्देशानुसार जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं।

Loading...