कोरोना मरीजों की जान बचाने को 6 घंटे में ही तैयार किया वाल्व, और फिर मिलने लगी धमकी...

कोरोना वायरस की वजह से दुनियाभर में मृतकों की संख्या शनिवार को 11,800 से अधिक हो गई. वहीं, सिर्फ इटली में इससे 4 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. इटली में संक्रमित लोगों का आंकड़ा 47 हजार पार कर गया है. मरीजों की बड़ी संख्या की वजह से अस्पताल में जगह कम पड़ रहे हैं. कुछ दिनों पहले इटली के लोम्बार्डी के एक हॉस्पिटल में स्टाफ ने पाया कि उनके पास एक खास तरह के वेन्टिलेटर वाल्व की कमी हो गई है. मरीजों के ICU में भर्ती करने पर इन वाल्व की जरूरत पड़ती है. हॉस्पिटल ने सप्लाई करने वाली कंपनी से संपर्क किया, लेकिन कंपनी ने सप्लाई करने से मना कर दिया.
बिजनेस इनसाइडर की रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी के मना करने के बाद 6 घंटे से भी कम वक्त में एक स्टार्टअप ने हजारों रुपये के वाल्व को सिर्फ 75 रुपये के खर्च पर तैयार कर दिया. 3-D प्रिटिंग के आधार पर उन्होंने नए वाल्व बनाए. फिजिसिस्ट मसिमो टेम्पोरेली ने दो इंजीनियर्स के साथ मिलकर ये वाल्व बनाए. बाद में कई मरीजों के इलाज में इन वाल्व का इस्तेमाल किया गया. इटली के टेक्नोलॉजी इनोवेशन मंत्री पावला पिसानो ने इंजीनियर्स को इसके लिए धन्यवाद दिया.
वाल्व तैयार करने वाले इंजीनियर ने बताया कि सप्लाई करने वाली कंपनी ने उन्हें डिजाइन देने से भी मना कर दिया था और इसे तैयार करने को गैर कानूनी बताया था. कंपनी के एक स्टाफ ने बताया कि यह कंपनी की प्रॉपर्टी है, इसलिए वे नहीं दे सकते. कंपनी के पास इस वाल्व के पेटेंट भी हैं. फिजिसिस्ट मसिमो ने कहा कि वाल्व की पेटेंट कंपनी की ओर से इसका डुप्लीकेट तैयार करने पर मुकदमा करने की धमकी दी गई. लेकिन बाद में कंपनी ने मुकदमे की धमकी के आरोपों को खारिज कर दिया.
Loading...