पुलिस को फोन कर कहा, "मैं भूखा हूँ" तो पुलिस ने कर लिया गिरफ्तार, जानिए क्या है मामला...

लॉक डाउन के दौरान भूखे होने की झूठी सूचना प्रशासन को देने के आरोप में एनईबी थाना पुलिस ने रविवार रात एक युवक को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कार्रवाई शुरू कर दी है।
एनईबी थानाधिकारी विनोद सामरिया ने बताया कि रसद विभाग अलवर के प्रवर्तन निरीक्षक मनीष अवस्थी ने रविवार को थाने में शिकायत दी कि मुनीराम निवासी चावंड कॉलोनी वार्ड-42 ने 181 कॉल सेंटर पर शनिवार को शिकायत दर्ज कराई कि उसके पास भोजन सामग्री खरीदने के लिए राशि नहीं है और ना ही उनके पास खाद्य सामग्री है। वह एक दिन से भूखे हैं। उनके लिए भोजन सामग्री उपलब्ध कराई जाए। उक्त शिकायत की जांच करने प्रवर्तन निरीक्षक मनीष अवस्थी रविवार को मौके पर पहुंचे। जांच में पाया कि शिकायतकर्ता सम्पन्न है और जरुरतमंदों की श्रेणी में नहीं आता है। 

उसने 181 कॉल सेंटर पर प्रशासन का अनावश्यक समय बर्बाद किया है और कोविड-19 संक्रमण आपदा प्रबंध में व्यवधान डाला है। पुलिस ने उक्त शिकायत पर प्रशासन को झूठी सूचना देने के आरोपी मुनीराम (36) पुत्र रामकिशन बैरवा निवासी गांव बूचपुरी थाना रैणी हाल किराएदार चावण्ड कॉलोनी वार्ड-42 थाना एनईबी को गिरफ्तार कर लिया। उसके खिलाफ आईपीसी की धारा-188 और 52 आपदा प्रबंध अधिनियम-2005 के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। थानाधिकारी सामरिया ने बताया कि आरोपी मुनीराम ने हाल ही में करीब 9 लाख रुपए में अपना मकान बेचा है। मकान बेचान के रुपए उसके पास हैं। फिलहाल वह अलवर शहर के एनईबी इलाके में परिवार सहित किराए के मकान में पर रहता है।
Loading...