लॉकडाउन : कोरोना वायरस से मरे शख्स को दफनाने परिवार से कोई भी नहीं आया!

कोरोना वायरस से उपजा संकट कई अविश्वसनीय घटनाओं का कारण बन रहा है. हैदराबाद का ही उदाहरण लें जहां इस वायरस के चलते दम तोड़ने वाले 74 साल के बुजुर्ग को दफनाने परिवार से कोई भी नहीं आया. आखिर में स्वास्थ्यकर्मियों को ही यह काम करना पड़ा. यह बुजुर्ग तेलंगाना में कोरोना वायरस के चलते मरने वाला पहला शख्स था. देश में अब तक यह बीमारी (कोविड-19) 30 लोगों की जान ले चुकी है.
तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव का कहना है कि मरने वाला शख्स कोरोना वायरस से पीड़ित है, यह तब पता चला जब मौत के बाद उसे उसके घरवाले अस्पताल लेकर आए. उनके मुताबिक इस बुजर्ग को कई दूसरी दिक्कतें भी थीं. तेलंगाना में कोरोना वायरस से संक्रमितों का आंकड़ा 70 तक पहुंच गया है जबकि पूरे देश में यह 1000 के पार हो गया है.

के चंद्रशेखर राव ने प्रवासी मजदूरों से राज्य को छोड़कर वापस न जाने की अपील भी है. उनका कहना था कि राज्य सरकार इन मजदूरों के खाने-पीने और रहने का पूरा बंदोबस्त करेगी. उनकी यह अपील देश भर के राजमार्गों पर अपने घर लौटते मजदूरों के तांते के बीच आई है.
Loading...