‘सॉरी पापा मुझे माफ़ करना’ और फिर कर लिया सुसाइड...

कानपुर शहर के कोतवाली थाना क्षेत्र में सोमवार को बीएससी की छात्रा ने फांसी लगाकर खुदकुशी। पुलिस ने मौके से सुसाइड नोट बरामद किया है। सुसाइड नोट में छात्रा ने लिखा कि सॉरी पापा, मम्मी और भइया। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मृतक छात्रा के घर में कोहराम मचा हुआ है, वहीं फिलहाल पुलिस इस घटना की जांच पड़ताल में जुटी है।
जिला लखीमपुर निवासी इशिता मिश्रा (20 साल) बीएससी सेकंडरी की छात्रा है। पहले परमट में ही रहती थी पिछले साल ही दाखिला लिया था। लड़की डीजी कॉलेज में पड़ती थी। घटना से पूर्व उसकी किसी दोस्त से फोन पर बात भी हुई थी। बताया जा रहा है कि वह पढ़ाई को लेकर डिप्रेशन में थी। लखीमपुर खीरी की शांतिनगर कॉलोनी निवासी जनरल मर्चेन्ट कारोबारी ब्रजेश मिश्र की बेटी इशिता दयानंद गल्र्स कॉलेज से बीएससी द्वितीय वर्ष की छात्रा थी।

इसके साथ ही वह यूनिवर्सिटी में खो खो टीम की कप्तान थी। हॉस्टल की बालिका शिक्षण समिति के सदस्य रजत मिश्रा ने बताया कि पहले इशिता परमट में ही कहीं किराए पर रहती थी। उसने तीन फरवरी को ही हॉस्टल में कमरा लिया था। रविवार देर रात खाना खाने के बाद वह पड़ोसी छात्रा से बात कर रही थी। इसके बाद शुभम नाम के किसी दोस्त का फोन आने पर उससे बात करने लगी और कमरा अंदर से बंद कर लिया।
Loading...