पति की पहले हो चुकी थी मौत, देवर संग पुलिस ने थाने में करा दिया विवाह!

निगोही थाने में मंगलवार को एक विवाह कराया गया। एक साल पहले पति की मौत हो गई थी। इसके बाद महिला और उसका देवर विवाह करना चाहते थे। पर बाद में देवर ने मना कर दिया। पुलिस से महिला ने शिकायत की। पुलिस ने मंगलवार को दोनों को बुलाकर विवाह करा दिया।
खुटार के गांव रूजहा के राजाराम की बेटी धनवती की लगभग बीस वर्ष पूर्व निगोही के हमजापुर गांव निवासी रामकुमार से शादी होने के बाद पांच बच्चे हुए। सब कुछ सही सलामत चल रहा था। अचानक 30 जून को रामकुमार की तबीयत बिगड़ी और बीमारी से उसकी मौत हो गई। कुछ दिनों आपसी रजामंदी से धनवती का देवर प्रदीप से विवाह तय हो गया। दोनों चुपते-चुपाते एक-दूसरे से मिलते रहे। होली से पूर्व प्रदीप ने उससे शादी करने से इंकार कर दिया तो धनवती ने पुलिस की शरण ली। 

एक-दो बार दोनों को आमने-सामने बैठाया गया, लेकिन बात नहीं बनी। मंगलवार को फिर धनवती थाने पहुंचीं और पुलिस से न्याय दिलाने की मांग की। काफी देर बातचीत होने के बाद देवर शादी को राजी हो गया। एसओ इन्द्रजीत भदौरिया ने तत्काल मौका ताड़ थाने में ही शादी की व्यवस्था की। आचार्य सुमित के मंत्रोच्चार के बीच दोनों प्रदीप और धनवती ने एक-दूसरे के गले में जयमाल डाल शादी रचा ली। एसओ ने दक्षिणा देकर कन्यादान किया। शादी के सम्मलित हुए आठ बारातियों को भोजन और मिठाई खिलाकर विदा कर दिया गया। 
Loading...