लॉकडाउन : एम्बुलैंस में नकली मरीज बनाकर हिमाचल लाए जा रहे थे लोग, पुलिस ने ऐसे दबोचा

यूं तो एम्बुलैंस ऐसी व्यवस्था है जोकि हर परिस्थिति में मरीजों की जान बचाने में अहम भूमिका निभाती है लेकिन कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लगाए कर्फ्यू में कुछ ऐसी एम्बुलैंस भी हैं जोकि दूसरे राज्यों से लोगों को सवारियों को लाकर न केवल एडवायजरी की उल्लंघना कर रही हैं बल्कि प्रदेश वासियों के जीवन से भी खिलवाड़ कर रही हैं। ऊना जिला में ही ऐसे 4 मामले पकड़े गए हैं, जिनमें 4 ऐसी एम्बुलैंस पाई गईं हैं जोकि सवारियां ढो रहीं थी।
नाटकीय अंदाज में ग्लूकोज लगाकर नकली मरीज दर्शाने से भी ऐसी एम्बुलैंस परहेज नहीं कर रही हैं। आपको बता दें कि पंजाब को सबसे अधिक सर्विलांस पर रखा गया है और इस राज्य में कई लोग ऐसे हैं, जिनकी ट्रैवल हिस्ट्री है और वह मिल ही नहीं पा रहे हैं, ऐसे में कफ्र्यू के बीच ऐसे लोगों को खोजा भी जा रहा है। ऐसे गंभीर दौर में एम्बुलैंस चालक चंद रुपयों के लिए अनजान लोगों को जिला में प्रवेश करवा रहे हैं जोकि कभी भी खतरनाक साबित हो रहा है।

ऐसे ही मामलों में पंडोगा में 2 एम्बुलैंस में पंजाब के जालंधर से हिमाचल के मंडी जा रहे 8 लोग पाए गए। इन दोनों मामलों पर एफआईआर दर्ज हुई हैं। वहीं रैड लाइट चौक ऊना में भी ऐसी एम्बुुलैंस पकड़ी गईं जोकि सवारियां ढोती पाई गईं, वहीं मैहतपुर में भी एक एम्बुलैंस सवारियों के साथ पकड़ी गई थी। एसपी कार्तिकेयन गोकुलचंद्रन का कहना है कि ऐसे मामलों पर नजर रखी जा रही है और एडवायजरी की उलंघना पर सख्ती से निपटा जा रहा है।

Loading...