लॉकडाउन : दूल्हा साथ लाया एक बाराती और हो गई शादी. लेकिन साथ नहीं गई दुल्हन..सब देखते रह गए

पूरी दुनिया इस समय कोरोना वायरस से जूझ रही है। इस महामारी से निपटने के लिए देशभर में 21 दिनों तक लॉकडाउन किया गया है। लोगों को घरों में रहने को कहा गया है। ऐसे में ना तो कोई समारोह कर सकता है और ना ही शादी। कई लोगों ने अपनी शादियां टाल दी हैं। जो लोग शादी कर रहे हैं, उन्हें इस शर्त पर परमिशन दी जा रही है कि शादी में 4 या 5 लोग मौजूद रहेंगे। जो भी शामिल होंगे उनके चेहरे पर मास्क और जेब में सैनेटाइजर की बोतल होना चाहिए। सभी दूरी बनाकर रखेंगे। 
ऐसी ही एक अनोखी शादी राजस्थान के जोधपुर शहर में हुई। लेकिन दुल्हन की विदाई नहीं हो सकी। दरअसल, जोधपुर शहर में रविवार रात एक शादी हुई। जहां दूल्हे जियारम ने दुल्हन संतोष के साथ सात फेरे लिए। इस विवाह मे महज 6 से 7 लोग मौजूद थे। दूल्हे के साथ बारात में सिर्फ एक बाराती ही आया था। वहीं लड़की पक्ष से भी तीन या चार लोग शामिल हुए थे। रीति-रिवाज के साथ यह शादी तो हो गई। लेकिन, दुल्हन की विदाई नही हुई। 

दुल्हन के पता ने कहा- हम लॉकडाउन खत्म होने के बाद गाजे-बाजे के साथ बेटी को विदा करेंगे। आपको बता दें कि जोधपुर के रहने वाले लिखमाराम भादू ने अपनी तीन बेटियों की शादी 29 मार्च को तय की थी। लेकिन लॉकडाउन के होने के चलते उसने शादी टालने का मन बना लिया। जब उसने तीनों लड़के वालों से विवाह को दो तीन महीन बाद करने की बात की तो वह तैयार हो गए। लेकिन एक पक्ष शादी को टालने के लिए राजी नहीं हुआ।
Loading...