रात को मंदिर में सोए थे भाई बहन, सुबह दिखा कुछ ऐसा नजारा की उड़ गए लोगों के होश

आंध्र प्रदेश के अनंतपुर जिले के कोर्तिकोटा गाँव में एक हृदय विदारक हादसा सामने आई हैं।यहां कुछ बदमाशों ने खजाने की चाह और अंधविश्वास के चक्कर में तीन लोगों की निर्माणाधीन शिव मंदिर में गला रेतकर कत्ल कर दी और फिर खून को शिवलिंग पर डाल दिया।पुलिस और स्थानीय लोगों ने संदेह जताया है कि अज्ञात लोगों ने गुप्त खजाने के लिए तीनों की बलि दी हैं।
मृतक की पहचान शिवराम रेड्डी और उसकी बहन कमलम्मा और सत्यलक्ष्मी के रूप में हुई हैं।पुलिस ने बताया कि मारे गए तीनों एक ही परिवार के थे।वह गाँव के एक प्राचीन शिव मंदिर के पुनर्निर्माण के लिए काम कर रहे थे।तीनों मृतक मंदिर में ही रहते थे।रात में,वे लोग मंदिर में सो रहे थे, कुछ बदमाशों ने उनका गला काट दिया और उनकी कत्ल कर दी और शिवलिंग पर खून चढ़ाया।एक ही स्थान पर तीन लाश मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई हैं।
दूसरी ओर,स्थानीय लोगों ने संदेह व्यक्त किया है कि अज्ञात लोगों ने गुप्त खजाने के लिए नरबलि दी हैं।फिलहाल, पुलिस ने लाशों को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया।पुलिस ने कत्ल का मामला दर्ज कर जांच प्रारंभ कर दी हैं।डीएसपी श्रीनिवासुलू का कहना है कि प्राचीन शिव मंदिर का निर्माण कार्य अभी भी चल रहा हैं।नया मंदिर पुराने मंदिर को तोड़कर बनाया जा रहा हैं।शिवराम रेड्डी इस मंदिर में पूजा अर्चना करते थे। बीती रात शिवराम रेड्डी अपने दो रिश्तेदारों के साथ मंदिर में सो रहा था।
तभी बदमाशों ने उनकी कत्ल कर दी। फिर, सुबह जब लोग मंदिर में पूजा करने आए, तो तीनों के लाश को देखकर दंग रह गए।उसने तुरंत पुलिस को सूचित किया। डीएसपी श्रीनिवासुलू ने आगे कहा कि जब हम मंदिर पहुंचे,तो हमने देखा कि सभी लाशों पर गहरे घाव थे, डॉग स्क्वायड ने भी इसकी जांच की।हमने एक विशेष जांच दल का गठन किया है,जो हर एंगल से जांच करेगी।लोगों का कहना है कि मृतकों से कोई झगड़ा नहीं था।इसलिए किसी पर कोई सन्देह नहीं हैं।पुलिस फिलहाल आरोपी की तलाश कर रही हैं।

Loading...