कोरोना : मास्क की किल्लत से निपटने के लिए महाराष्ट्र पुलिस ने कमाल ही कर दिया...

कोरोना वायरस के चलते मास्क काफी डिमांड में हैं. बाजार में इसकी कमी की खबरें भी लगातार आ रही हैं. महाराष्ट्र के भंडारा जिले की पुलिस को इसी तरह की समस्या का सामना करना पड़ा. पुलिस ने 1600 मास्क मांगे थे, लेकिन उनसे एक सप्ताह इंतजार करने को कहा गया. इस पर पुलिस ने खुद से ही मास्क बनाना शुरू कर दिया. पिछले चार दिन से चार महिलाएं और दो पुरुष 12-12 घंटे काम कर रहे हैं और मास्क बना रहे हैं. सोमवार तक इन्होंने 2000 के करीब मास्क बना दिए.
भंडारा के एएसपी अनिकेत भारती ने ‘इंडियन एक्सप्रेस’ को बताया कि मास्क बनाने का जिम्मा पुष्पा उके को दिया गया. वे पिछले 35 साल से महिला पुलिसकर्मियों को सिलाई सिखा रही हैं. उन्हें कोरोना वायरस के मामले सामने आने के बाद अपना काम बंद करना पड़ा था. लेकिन जरूरत पड़ने पर उन्होंने फिर से काम शुरू किया.

एक पुलिसवाले के लिए दो-दो मास्क बनाए

पुष्पा ने 100 मीटर हरा कपड़ा और इलास्टिक बैंड पहने. इसके बाद उनकी निगरानी में रोजाना 500 मास्क बनाए गए. उन्होंने बताया कि साइज़ के हिसाब से कपड़ा काटने के बाद एक मास्क बनाने में केवल पांच मिनट लगे. हरेक पुलिसकर्मी के लिए दो-दो मास्क बनाए गए.

इसके बाद भंडारा जिले के प्रत्येक पुलिसकर्मी के लिए दो मास्क, एक जोड़ी ग्लव्स और एक बोतल हैंड सेनेटाइज़र की किट भेजी गई. एएसआई राजेश वासनिक ने बताया कि उनके बनाए मास्क को धोकर फिर से इस्तेमाल किया जा सकता है. मास्क की गुणवत्ता का पूरा ध्यान रखा गया है.
Loading...