लॉकडाउन : फर्जी इंस्पेक्टर बनकर काट रहा था चालान, हुआ ऐसा कि फंस गया मुसीबत में

लॉक डाउन के दौरान जहां एक ओर पूरे राज्य में पुलिस और प्रशासन लॉक डाउन का पालन करवाने और जरूरतमंद लोगों को मदद पहुंचाने की कोशिश कर रहा है, वहीं कुछ ऐसे लोग भी सामने निकल कर आए हैं जो हालात का फायदा उठा रहे हैं। देहरादून की सड़क पर ऐसा ही एक फर्जी पुलिस इंस्पेक्टर उतर आया, वह न सिर्फ सड़क पर घूमने लगा बल्कि उसने सड़क पर जरूरी काम से बाहर आए लोगों से वसूली करनी भी शुरू कर दी, कई ऐसे वाहन जो पुलिस की नजर से बच कर सड़क पर दौड़ रहे थे, फर्जी दरोगा ने उनको रोककर उनका चालान काटना शुरू कर दिया। 
लेकिन एक शख्स को उस पर शक हो गया, पुलिस की वर्दी में होने के कारण उस व्यक्ति ने पुलिस वाले से उलझना सही नहीं समझा और इसकी शिकायत देहरादून के उच्च पुलिस अधिकारियों को कर दी। देहरादून एसपी सिटी श्वेता चौबे को जैसे ही इस बात की जानकारी मिली, पुलिस की ओर से टीम बनाकर इस शख्स की गिरफ्तारी की कोशिश की गई, 2 दिन बाद जाकर गुरुवार सवेरे पुलिस ने एक शख्स को रंगे हाथों पकड़ लिया, तब यह फर्जी दरोगा देहरादून में एक चौराहे पर लोगों को धमका रहा था और वसूली कर रहा था। पुलिस ने फर्जी दरोगा से चालान कर वसूले गए ₹4000 और कुछ कागजात बरामद कर लिए हैं । पुलिस के द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार फर्जी दरोगा का नाम राजेंद्र है और वह पंजाब का रहने वाला है, वर्तमान में वह देहरादून में रहता है और फर्जी दरोगा का कहना है कि उसका एक भाई नारकोटिक्स में पंजाब में अधिकारी है। 
Loading...