ये हैं कोरोना टेस्टिंग किट बनाने वाली देश की पहली महिला, जिन्होंने प्रेग्नेंसी के आखिरी दिनों में बनाया किट...

अगर कुछ करने का जज्बा हो तो मुश्किलें भाग जाती हैं। ऐसा ही कुछ कर दिखाया है देश की मीनल दाखवे भोंसले ने इससे यह साबित हो गया कि हौसला हो तो मुश्किलें रास्‍ता नहीं रोक सकती हैं। इन्‍होनें कोरोना वायरस की जांच के लिए ऐसा किट तैयार किया जो विदेशी किट के बहुत ही सस्‍ता है। खास बात यह है कि मीनल ने अपनी प्रेग्नेंसी के आखिरी महीनों में मेहनत करके इस किट को बनाया है। यह टेस्टिंग किट कोरोना के खिलाफ लड़ाई बड़ी भूमिका अदा करेगा।

किट बनाने के बाद बच्ची को दिया जन्म
पुणे की वायरॉलजिस्ट मीनल एक डायग्नोस्टिक फर्म My lab Discovery Soultions के प्रॉजेक्ट पर फरवरी में काम शुरू किया था। तब वह प्रेग्नेंट थीं। उन्‍होनें कहा मैंने इसे चुनौती के रूप में स्‍वीरकार किया। मुझे अपने देश की सेवा करनी है। इसम काम में 10 सदस्यों ने कठिन परिश्रम किया है।

मीनल ने बताया कि हमारा किट ढाई घंटे में रिजल्ट दे देगा। वहीं विदेशी टेस्टिंग किट को छह से सात घंटे लग रहे हैं। हर माइलैब किट से 100 सैंपल टेस्ट किए जा सकते हैं और जांच का खर्च 1,200 रुपये आता है। जबकि विदेशी किट के दाम 4500 रूपये हैं। हर दिन इस लैब में 15 हजार टेस्टिंग किट तैयार करने की क्षमता है।
Loading...