"बाहर निकलो, हाथ मिलाओ, छींको, वायरस फैलाओ" कहने वाला इंजीनियर मोहम्मद मुजीब को लिया गया हिरासत में...

कोरोना वायरस को रोकने के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकारों से लेकर बड़ी सिनेमा उद्योगपति, हस्तियों और क्रिकेट स्टार तक सभी हर मुमकिन कोशिश करके लोगों की मदद कर रहे हैं। वहीं कुछ लोग इस मौत के वायरस को फैलाने की कोशिशें भी कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर पोस्ट करके इंफोसिस के इंजीनियर मोहम्मद मुजीब ने बाकायदा ‘अपने’ लोगों से वायरस को ज्यादा से ज्यादा फैलाने के लिए बाहर निकलने की अपील की। मगर उसकी ये अपील पुलिस को दिखाई दे गई और उसे हिरासत में ले लिया गया। मुजीब के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।
बेंगलुरु के इस बेहद चौंकाने वाले मामले में आपत्तिजनक पोस्ट के मिलने के बाद खुद इंफोसिस ने भी उसे नौकरी से बर्खास्त कर दिया। साथ ही इस बारे में सोशल मीडिया पर ट्वीट करके सफाई भी दी है कि कंपनी ऐसी किसी भी सोच से इत्तिफाक नहीं रखती। मुजीब की इस गंदी पोस्ट के किलाफ तुरंत हरकत में आते हुए पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया और एफआईआर दर्ज की है। बेंगलुरु के ज्वायंट पुलिस कमिश्नर संदीप पाटिल ने बताया कि मुजीब को गिरफ्तार कर लिया गया है। इसके खिलाफ मामले की जांच की जा रही है। 
पाटिल ने बताया कि 25 साल का मुजीब बेंगलुरु का रहने वाला है। उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 505 के तहत लोगों को उकसाने और उत्तेजित करने की धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। फिलहाल उसकी इस मानसिकता के लिए जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि उसकी कंपनी ने भी उसकी सेवाएं बर्खास्त कर दी हैं। वहीं सोशल मीडिया पर भी उसकी इस हरकत के बाद लोगों की प्रतिक्रियाएं सामने आनी शुरु हो गई हैं।
Loading...