लॉकडाउन : स्कूटी से दूध लेने जा रहे लड़के के साथ जो हुआ जानकर हैरत खाएंगे आप!

ओल्ड फरीदाबाद में शनिवार सुबह स्कूटी से दूध लेने जा रहे एक किशोर पुलिस की पिटाई से घायल हो गया। उसका एक पैर टूट गया है। घटना के बाद ओल्ड फरीदाबाद के लोगों ने विरोध जताया व आरोपी पुलिसकर्मी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। हालांकि पुलिस मारपीट की घटना से इंकार कर रही है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि पुलिसकर्मी द्वारा रोके जाने के दौरान स्कूटी फिसलने से दुर्घटना हुई है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। देखें तस्वीरें और पढ़ें पूरा मामला....
घायल किशोर मोहित ने बताया कि वह स्कूटी से दूध लेने जा रहा था। ओल्ड फरीदाबाद में नगर निगम कार्यालय के समीप तैनात एक कांस्टेबल ने उसकी स्कूटी पर डंडा मारकर गिरा दिया। तेज गति में स्कूटी से गिरने के कारण मोहित घायल हो गया। उसने बताया भी कि वह दूध लेने जा रहा है। इसके बावजूद पुलिसकर्मी उसके पैर पर डंडा मारता रहा। बाद में आसपास के लोगों ने पुलिस की मदद से उसे सेक्टर-19 स्थित सर्वोदय अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया। जहां उसका उपचार किया जा रहा है।
प्रत्यक्षदर्शी ओमप्रकाश ने बताया कि वह नगर निगम में काम करते हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि स्कूटी सवार मोहित दूध लेने जा रहा था। नगर निगम मोड़ के समीप तैनात कांस्टेबल ने डंडा मार कर उसे स्कूटी समेत गिरा दिया। इस घटना में आरोपी कांस्टेबल की लाठी भी टूट गई। इससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। 
उन्होंने आरोप लगाया है कि घटना के समय पुलिसकर्मी शराब के नशे में धुत्त था। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि मामले की सूचना मिलने पर आसपास लगे सीसीटीवी की फुटेज निकाल कर जांच की जा रही है। पुलिस आयुक्त केके राव ने कहा है कि जांच में कांस्टेबल दोषी मिला तो सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि कांस्टेबल पर शराब के नशे में होने का आरोप निराधार है।
घटना के बाद ओल्ड फरीदाबाद के लोगों ने पुलिस के खिलाफ नाराजगी जताई। उन्होंने आरोपी कांस्टेबल के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर काफी देर तक मौके पर हंगामा किया। इसके बाद घायल को एक वैन में डालकर सर्वोदय अस्पताल पहुंचाया। 
इधर घटना के तुरंत बाद आरोपी कांस्टेबल को वहां से हटा दिया है। पुलिस आयुक्त ने मामले के जांच के आदेश दे दिए हैं, दोषी पाए जाने पर आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की बात कही है।
Loading...