मां ही निकली बेटे की कातिल, प्रेम और संपत्ति के लालच में कर दिया ऐसा वारदात

प्रेम प्रसंग और संपत्ति के लालच में सगी मां ने सबसे पवित्र रिश्ते को ताक पर रख अपने प्रेमी के साथ किशोरवय बेटे को मौत के घाट उतार दिया। शनिवार अपराह्न एसपी सिटी ने हत्यारोपित मां और उसके प्रेमी को मीडिया के सामने पेश कर उनके शर्मनाक कारनामें को बताया तो लोग दंग रह गये। लंका थाना क्षेत्र के अमरा-अखरी स्थित एक गड्ढे में बीते शुक्रवार को किशोरवय लड़के का सिर कूंचा शव मिला था। लंका पुलिस इस मामले की छानबीन के साथ मृतक के शिनाख्त के प्रयास में जुटी हुई थी। 
इसी दौरान उसे आज सुबह सूचना मिली की लड़के की हत्या करने वाली महिला और एक पुरुष मड़ुंआडीह स्टेशन के समीप साइकिल लेकर मौजूद है। दोनों यहां से कहीं भागने के फिराक में है। सूचना पर पुलिस ने छापेमारी कर दोनों को दबोच लिया। पूछताछ में गिरफ्तार महिला जक्खा बजरडीहा निवासी शान्ति देवी और जनपद चंदौली के खरौंझा इलिया निवासी विकास मोदनवाल ने बताया कि अमरा अखरी में जिसका शव मिला था वह शांति का बेटा गौरव कुमार बिंद का है।

पूछताछ में शान्ति ने बताया कि पति भरत बिंद अब इस दुनिया में नहीं है। मरने के पहले उन्होंने पूरी सम्पति बेटे गौरव के नाम कर दी थी। पति के मरने के बाद विकास से उसके प्रेम संबंध हो गये। विकास घर में ही किरायेदार बनकर रहने लगा। दोनों ने सम्पति हथियाने के लिए योजना बनाई। इसके तहत विकास गौरव को साइकिल पर बैठाकर अमरा अखरी पहुंचा। यहीं योजनानुसार शान्ति पहले से मौजूद रही। इसके बाद शान्ति गौरव को सुनसान जगह पर खड़ी दो ट्रकों के बीच में ले गई।

गौरव से बातचीत के दौरान शान्ति ने अचानक चाकू से उसके गले पर वार किया। दोनों ने गौरव को जमीन पर गिराकर उसके सिर को ईंट से कूंच दिया। जब उसकी मौत हो गई तो शव को पास स्थित गड्ढे में ले जाकर फेंक दिया। इसके बाद दोनों घर आ गये। बाद में पकड़े जाने का भय सताने लगा तो भेलूपुर थाने में पुत्र की गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दर्ज करा दी। एसपी सिटी ने बताया कि आरोपितों से पूछताछ के बाद खून लगा कपड़ा, हत्या में प्रयुक्त ईट, चाकू व साइकिल भी बरामद कर ली गई।
Loading...