योगी सरकार ने पेश किया मानवता की मिसाल, लेबर पेन से परेशान महिला की ऐसे किया मदद

कोरोना के कहर के बीच उत्तर प्रदेश से एक ऐसी खबर सामने आई है जिसके सामने के बाद लोग योगी सरकार और उत्तर प्रदेश पुलिस की तारीफ कर रहे हैं। इस संकट की घड़ी में बरेली की तमन्ना के लिए यूपी पुलिस ने एक मिसाल पेश की है। इसके साथ ही एक गर्भवती महिला के लिए मसीहा बन गई। दरअसल तमन्ना नाम की एक महिला गर्भवती थीं और घर अकेली थीं। उनके पति नोएडा में थे और लाॅकडाउन की वजह से आने की कोई संभावना नहीं दिख रही थी। ऐसे में उन्होंने वीडियो के जरिए मदद मांगी। जब मीडिया के जरिए योगी सरकार को जानकारी मिली तो उन्हें मदद पहुंचाया। शासन के निर्देश पर एसएसपी शैलेश पांडेय ने नोएडा के एडिशनल डीसीपी रणविजय सिंह से संपर्क करने के साथ साथ महिला को अस्पताल भिजवाया।
एसएसपी शैलेश पांडेय ने तमन्ना से उनके पति अनीस का मोबाइल नंबर लिया। नोएडा एडीसीपी रणविजय सिंह ने अनीस खान को फोन करके उनका पता लिया और वहां पुलिसबल के साथ खुद पहुंचे। तमन्ना के पति के लिए रणविजय ने एक कार का बंदोबस्त किया और उन्हें बरेली भेजने में मदद की। अनीस के बरेली पहुंचने के बाद तमन्ना ने बेटे को जन्म दिया। दरअसल प्रसव पीड़ा से परेशान तमन्ना ने सोशल मीडिया पर वीडियो जारी कर अपना दर्द बयां किया। इसके बाद यह जानकारी योगी सरकार को मिली। इसके बाद सरकार के आदेश पर बरेली पुलिस ने नोएडा पुलिस से संपर्क किया और फिर नोएडा पुलिस ने महिला के पति को बुधवार रात में सकुशल बरेली पहुंचा दिया। तमन्ना ने पति के पहुंचने के कुछ ही देर बाद एक स्वस्थ बच्चे (बेटे) को जन्म दिया है। महिला ने पति और नवजात बच्चे के साथ अपनी वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर कर बरेली व नोएडा पुलिस के इस कार्य की सराहना की है।

एडिश्नल डीसीपी नोएडा रणविजय सिंह ने जानकारी दी कि बुधवार रात करीब सवा नौ बजे एसएसपी बरेली ने फोन कर उन्हें बताया कि बरेली की एक महिला का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। महिला गर्भवती है व उसके पति नोएडा में फंसे हुए हैं। महिला की डिलीवरी का समय है। वीडियो देख नोएडा पुलिस की टीम ने मदद शुरू की। सोशल मीडिया के जरिए संपर्क करने की कोशिश शुरू हुई थी कि बरेली पुलिस की तरफ से महिला का नंबर भी उपलब्ध कराया गया। जानकारी मिली कि महिला का नाम तमन्ना अली खान है।

उसके पति अनीस खान सेक्टर 5 स्थित एक्सपोर्ट कंपनी में काम करते हैं। महिला की 23 मार्च की डिलीवरी की ड्यू डेट थी। स्थिति गंभीर देखते हुए काफी प्रयास कर कुछ ही घंटे में कार बुक कर उसके पति को रात करीब सवा 11 बजे नोएडा से बरेली के लिए भेज दिया गया। तमन्ना बरेली के इज्जतनगर की रहने वाली हैं। उन्होंने वीडियो जारी कर कहा है कि मैं पूरी ज़िंदगी पुलिस प्रशासन का एहसान कभी भूल नहीं पाऊंगी। एक दिन पहले मैं जितना दुखी और परेशान थी, आज मैं उतनी ही खुश हूं। मेरी खुशी का ठिकाना नहीं है। मैं जीवन में कभी इतना खुश नहीं हुई। बरेली और नोएडा पुलिस की मदद से मेरे शौहर पास में हैं और मेरी गोद में एक दिन का बेटा है। इस वाकए से तमन्ना इतनी भावुक हो गईं हैं कि उन्होंने नोएडा के पुलिस अफ़सर रणविजय के नाम पर अपने बच्चे का नाम रखने की इच्छा जताई है।
Loading...