लॉकडाउन : आलू ढोने वाली ठिलिया से पत्नी को घर ले जाने को मजबूर हुआ देवेंद्र

फर्रुखाबाद शहर के लाल दरवाजा निवासी देवेंद्र पाल ठेली से पल्लेदारी का काम करते हैं। पत्नी आरती (35) को कुछ सालों से पथरी की शिकायत थी। उन्होंने डाक्टर की सलाह पर 15 दिन पहले बढ़पुर स्थित एक निजी अस्पताल में ऑपरेशन करवा दिया। सोमवार को अस्पताल से छुट्टी होनी थी। अब कोरोना का लॉकडाउन उनके सामने समस्या बन गया। पुलिस वाहन को नहीं ले जाने दे रही थी। 
ऐसे में देवेंद्र ने आलू ढोने वाली ठिलिया पर ही पत्नी को घर तक ले जाने की ठान ली। उन्होंने दोपहर में अस्पताल से पत्नी की छुट्टी कराई और उसी पर लिटाकर घर के लिए चल पड़ा। देवेंद्र का कहना है कि कहते हैं कि वाहन को लाने-ले जाने में दिक्कत होती। लिहाजा अपनी ठेली को ही काम में ले लिया। इसे कोई पुलिस वाला रोक भी नहीं रहा और मरीज भी आराम से जा रहा है।
Loading...