कोरोना के लिए देहदान करेगा यह व्यापारी, लोगों को महामारी से बचाने के लिए उठाया ये बड़ा कदम...

प्रसिद्ध सीतापुर आंख अस्पताल के संस्थापक डॉ एमपी मेहरे से प्रेरणा लेकर सीतापुर के एक व्यापारी ने कोरोना वैक्सीन पर शोधकार्य के लिए देहदान करने की पेशकश की है। इस बाबत उन्होंने जिलाधिकारी से मुलाकात कर उन्हें एक पत्र भी दिया है। इस पत्र के माध्यम से उन्होंने अपनी देह दान देने की आग्रह किया है। व्यापारी का कहना है कि वह कोरोना महामारी के चलते काफी परेशान है और लोगों की हो रही मौतों से भी दुखी है। इसलिए उन्होंने इसकी वैक्सीन के लिए अपना देहदान करने का मन बनाया है।
सीतापुर शहर कोतवाली के मोहल्ला संजय नगर निवासी रमेश टंडन की सीतापुर आंख अस्पताल के पास चश्मे की दुकान है। वर्तमान समय में जब दुनिया के तमाम देश कोरोना की त्रासदी झेल रहे हैं और भारत में भी उसका प्रकोप बढ़ने लगा है, तब भी कोरोना पर नियंत्रण के लिए अब तक कोई वैक्सीन खोजी नहीं जा सकी है। व्यापारी रमेश टंडन ने डॉ एमपी मेहरे के सूक्तिवाक्य परहित लागि तजई जो देही, संतहि संत प्रसंसई तेही से प्रेरणा लेते हुए देहदान करने की पेशकश की है। उन्होंने जिलाधिकारी से उनके कार्यालय में मुलाकात कर देहदान करने की पेशकश का पत्र उन्हें दिया।

रमेश टंडन ने कहा कि कोरोना वायरस पर रोकथाम के लिए शोधकार्य हेतु वह देहदान करने के इच्छुक हैं। यदि इस कार्य हेतु उनके शरीर का उपयोग किया जाए, तो वे अपना जीवन धन्य मानेंगे। उन्होंने कहा कि अपना जीवन तो उन्होंने जी लिया, लेकिन अब अगर यदि उनका शरीर लोंगो के लिए किसी काम आ जाये तो इससे बेहतर कुछ और नहीं हो सकता। डीएम ने प्रस्ताव पर विचार करने का आश्वासन दिया है और उन्होंने कहा हैं कि अगर ऐसा कुछ होगा तो इस पर विचार किया जाएगा।
Loading...