लॉकडाउन : बेटी ने कोरोना की भी नहीं किया फिक्र, बुजुर्ग बाप को धक्के देकर कर दिया बेघर और फिर...

कोरोना वायरस की महामारी के चलते जहां लोग सैकड़ों किलोमीटर पैदल चलकर अपने घरों को जा रहे हैं तो वहीं कानपुर में एक बेटी ने बुजुर्ग पिता को घर से निकाल दिया. पिता घर से निकल कर सड़क पर जा रहा था तभी पुलिसवालों ने रोक लिया. पुलिस से उसने आपबीती बतायी तो पुलिसवालों के भी आंसू छलक गये और उसे लेकर उसके घर पहुंचे. पुलिस ने बेटी और पत्नी को सख्त हिदायत दी कि अगर दोबारा ऐसा किया तो कार्रवाई के लिए तैयार रहना.
कोरोना महामारी के कुप्रभाव को कम करने के लिए पूरे देश सहित कानपुर में भी लॉकडाउन घोषित है. अतिआवश्यक न होने तक कोई भी व्यक्ति बाहर नहीं निकल सकता और निकलने पर पुलिस कार्रवाई भी कर रही है. इसी बीच एक 70 वर्षीय बुजुर्ग गुरुदेव पैलेस के पास पैदल जा रहा था, जिस पर पुलिसवालों ने पहले डपट लगायी कि इतने समय कहां घूम रहे हो और वापस जाओ.

बुजुर्ग रोने लगा तो पुलिसवाले मामला समझ गये और उससे नाम पता पूछा. उसने अपना नाम चुन्नी लाल जोशी और पता विनायकपुर बताया. बुजुर्ग ने कहा कि बेटी अनुराधा जोशी व पत्नी ने घर से निकाल दिया है. इस पर पुलिसवालों की आंखें नम हो गयी और कल्याणपुर थाना के एसआई रवि शंकर त्रिपाठी ने उनके हालचाल जाना और बैठाकर खाना खिलाया.

इसके बाद स्वयं अपनी जीप में बैठाकर उनको घर ले जाकर पत्नी और बेटी को बातचीत करके बुजुर्गों को घर के अंदर कराया और पत्नी बेटी को सख्त हिदायत दी कि अब ऐसी गलती मत करना वरना कार्रवाई हो जाएगी. दारोगा ने बताया कि पूरे मामले की जानकारी थाने में दे दी गयी है और बुजुर्ग की बराबर मॉनिटरिंग की जाएगी. अगर दोबारा बुजुर्ग को परेशान किया गया तो सख्त कार्रवाई की जाएगी.
Loading...