चोरी के आरोपी को भीड़ ने पीटकर मार डाला...

दुमका जिले के सरैयाहाट थाना क्षेत्र के केंदुआ गांव में गुरुवार की ग्रामीणों ने एक युवक को पीट-पीट कर मौत के घाट उतार दिया. आरोप है कि यह शख्स अपने साथियों के साथ विराम मंडल के घर चोरी कर रहा था. इसी दौरान घर वाले जग गये. हंगामा होने पर ग्रामीणों की भीड़ लग गयी. उग्र भीड़ लाठी-डंडे के साथ मौके पर पहुंची और एक आरोपी को घेर लिया. भीड़ ने उसकी पिटाई शुरू कर दी, जिससे घटना स्थल पर ही उसकी मौत हो गयी. शुक्रवार की सुबह इसकी जानकारी पुलिस को दी गयी. थाना प्रभारी संजय जनक मूर्ति दल बल के साथ घटना स्थल पहुंचे, जहां मृतक की पहचान प्रमोद हाजरा 40 वर्ष के रूप में की गयी.
रात को परिवार में आपसी झगड़ा हुआ था, सुबह मिली मारे जाने की खबर : प्रमोद हाजरा बांका जिला अंतर्गत बौंसी थाना के अम्बातरी गांव का रहने वाला था. पिछले कई वर्षों से धौनी पंचायत के सुमेता गांव स्थित अपने ससुराल में रह रहा था. उसकी पत्नी कंचन देवी ने बताया कि रात को परिवार में आपसी झगड़ा हुआ था. खाना खाकर सभी सो गये थे. सुबह को मालूम हुआ कि उसके पति को चोरी के आरोप में केंदुआ गांव में मार दिया गया है. मृतक की पत्नी व उसके परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था.

गृहस्वामी विरेन ने थाने में दिया आवेदन : विरेन मंडल ने थाना में आवेदन देकर बताया कि गुरुवार की रात परिवार के सभी सदस्य खाना खाकर सो गये थे. रात करीब 1:00 बजे घर में कुछ आहट सुनाई दी, तो उनका बड़ा बेटा जग गया. देखा कि घर में कुछ अनजान व्यक्ति घुसे हुए हैं.

हल्ला करने पर सब भागने लगे. हल्ला सुनकर जब ग्रामीण जगे तो एक चोर को पकड़ लिया गया. जिसकी ग्रामीणों द्वारा मारपीट की जाने लगी. जिससे उसकी मौत हो गयी. घर आकर देखा तो 4800 रुपये नगद सहित 40 भर चांदी के विभिन्न आभूषण यथा पायल-चैन आदि गायब था. भीड़ हिंसा में चोर की हत्या किये जाने के मामले में थाना प्रभारी संजय जनक मूर्ति ने बताया कि शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए दुमका मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल भेजा गया है. पुलिस मामले की छानबीन कर रही है.
Loading...