लॉकडाउन : शादी करने महाराष्ट्र से उत्तरप्रदेश पैदल ही जा रहा है ये युवक

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए देशभर में लॉकडाउन का सबसे ज्यादा असर मजदूरों पर दिखाई दे रहा है। कंपनियां बंद हो जाने से सभी बेरोजगार हो गए हैं। अब उनके समाने रहने और खाने का संकट आ गया है। ऐसे में यह मजदूर पैदल ही अपने घर की तरह निकल पड़े हैं। भनपुरी के पास पैदल जा रहे मजदूरों की एक टोली में सोनभद्र जिले का कुंदन कन्नौजिया शामिल है। 
उसने बताया कि 22 फरवरी को काम की तलाश में नागपुर (महाराष्ट्र) पहुंचा था। उसे एक कंपनी में नौकरी भी मिल गई थी। काम करते हुए अभी कुछ दिन ही बीते थे कि लॉकडाउन में कंपनी बंद हो गई। मालिक ने मजबूरी बताकर घर जाने को कह दिया। कुंदन ने बताया कि 5 अप्रैल को उसकी शादी है। 

लॉकडाउन होने से ट्रेन, बसें व अन्य सभी वाहन बंद है इसलिए वह दोस्तों के साथ घर के लिए पैदल ही निकल पड़ा। नागपुर से 23 मार्च से वह निकला है। बीरगांव के बंजारी मंदिर के सामने 4 साल से रहने वाले अजय, रवि और संतोष भनपुरी के पास बिलासपुर रोड़ पर पीठ पर बैग टांगे पैदल जाते हुए मिले। उन्होंने बताया कि वाहनों के बंद होने की वजह से पैदल ही अपने घर बालाघाट के लिए निकले हैं। उनके पास उतने पैसे भी नहीं हैं कि निजी साधन कर सकें।
Loading...