भाभी के बजाए ननद कर रही थी ऐसा काम, पकड़ी गई तो सभी हो गए हैरान, जानें...

कानोता जिले के कानोता में कस्बा स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में स्टेट ओपन 12वीं की पेटिंग परीक्षा चल रही थी। तभी एक ऐसा वाकया हुआ कि वहां मौजूद हर कोई हैरान रह गया। दरअसल परीक्षा में पेपर देने आना था भाभी को, लेकिन पहुंच गई ननद। जब परीक्षा का पेपर चल रहा था तब भाभी की जगह ननद परीक्षा देते पकड़ी गई। विद्यालय की प्रधानाचार्य राजेश रानी माथुर ने थाने में मामला दर्ज करवाया कि स्कूल में बुधवार को आयोजित हुई स्टेट ओपन 12वीं की पेटिंग एग्जाम में भाभी ललिता पुत्री हंसराज मीणा के स्थान पर ननद ललिता पुत्री रतनलाल मीणा परीक्षा दे रही थी। 
जांच करने पर पिता के नाम में गलती मिलने पर प्रधानाचार्य ने पुलिस को सूचना दी। इसके बाद पुलिस ननद को ले गई। वहीं दूसरी ओर जयपुर के चन्दवाजी में गाड़ी पर पुलिस वाहन की बत्ती लगाकर और नकली वर्दी पहनकर जयपुर-दिल्ली हाइवे पर व्यापारी से 4 लाख रुपए लूटने वालों को चंदवाजी पुलिस ने 24 घंटे में पकड़ लिया। छह आरोपियों से लूट में काम में ली गई कार, नकली रिवॉल्वर व वर्दी और करीब सवा तीन लाख की नकदी भी बरामद की है। 
आरोपियों ने सस्ता सोना दिलाने का झांसा दे व्यापारी को फंसाया था। जयपुर ग्रामीण एसपी शंकर दत्त शर्मा ने बताया कि चौड़ा रास्ता के सोनू शर्मा ने मामला दर्ज कराया था। अलग-अलग जगह से दौलतपुरा निवासी आर्यन उर्फ विक्रम उर्फ हैडन मीणा (22), प्रकाश मीणा (24), बाबूलाल मीणा उर्फ राजेश(33), ग्राम नांगल सुसावतान आमेर निवासी राहुल मीणा (23), ग्राम सिरोही नीम का थाना निवासी कमलेश उर्फ कालू मीणा(30) और सांगावाला थाना आमेर निवासी हंसराज मीणा (32) को गिरफ्तार किया।

नाम बदलकर करते थे दोस्ती
थानाधिकारी विक्रांत शर्मा ने बताया कि आरोपी नाम बदलकर दोस्ती करते और बाद में सस्ता सोना चांदी व नकली नोट दिलाने का झांसा देते थे। लूट को असली दिखाने के लिए फिल्मी स्टाइल में दूसरी कार में पुलिस की वर्दी पहन अन्य साथी आते थे और धमकाकर माल लेकर फरार हो जाते थे। पुलिस की गाड़ी पर लगाई जाने वाली लाइट भी उन्होंने ऑनलाइन खरीदी थी और नकली वर्दी बाजार से खरीदी।

Loading...