कोरोना भी नहीं हरा पाया 'दादी हुआंग' और 'दादा सन' के प्यार को, आप भी जानिए इनकी कहानी!

आपने सच्ची मोहब्बत के किस्से तो बहुत-से सुने होंगे, लेकिन हम आपको आज सच्ची मोहब्बत का एक ऐसा किस्सा बता रहे हैं जिससे लाखों लोगों के दिल पिघल जाएं। ये कहानी है चीन के हांगझोउ शहर में एक बुजुर्ग पति-पत्नी की। 
जानकारी के अनुसार चीन के हांगझोउ शहर में रहने वाली 84 वर्षीय हुआंग गुओकी के 90 वर्षीय पति मिस्टर सन पिछले एक साल से सांस लेने की दिक्कत और डिमेंशिया बीमारी के कारण हांगझोउ के अस्पताल में भर्ती हैं। हुआंग पति से मिलने हर रोज अस्पताल जाया करती थीं। उनकी सेवा करती थीं, लेकिन इस बीच कोरोना वायरस की वजह से शहर में लॉकडाउन हो गया। लोगों का घरों से निकलना बंद हो गया और अस्पताल ने भी ICU में विजिटर्स का आना बंद कर दिया। इस तरह हुआंग भी फंस गईं। 
पूरे अस्पताल का स्टाफ इस जोड़े को 'दादी हुआंग' और 'दादा सन' कहकर बुलाता था। दादी हुआंग हर रोज दोपहर में दो बजे कीवी फ्रूट लेकर मिस्टर सन से मिलने आती थीं। सन को कीवी फ्रूट बहुंत पसंद हैं, लेकिन 1 फरवरी से लॉकडाउन हो गया और अब दादी हुआंग क्या करतीं? लेकिन कहते हैं न कि दूनिया में चाहे कितनी भी बड़ी मुसीबत क्यों न आ जाए पर सच्चे प्यार को कोई नहीं झुका पाता। कुछ ऐसी ही ये मोहब्बत है जिसे कोरोना वायरस का प्रकोप भी नहीं झुका पाया। 
इस 55 दिन के लॉकडाऊन के दौरान दादी हुआंग ने अपना प्यार जताने के लिए सबसे बेहतरीन और पुराना तरीका ही अपनाया। 84 वर्षीय पत्नी ने अपने 90 वर्षीय पति को लगभग हर रोज एक प्रेम पत्र लिखने के बाद लाखों लोगों के दिलों को पिघला दिया। हुआंग गुओकी ने लॉकडाऊन के 55 दिनों के अंतराल में कुल 45 प्यार भरे खत लिखे।
इन चिट्ठियों में दादी हुआंग मिस्टर सन से कहती हैं कि बीमारियों से लड़ने और मुझसे दूर रहने के लिए आपको मजबूत बनना होगा। बच्चे और नाती-पोते सब ठीक हैं। जैसा नर्स और डॉक्टर कहें वैसा आप करते रहिए और मैं आपसे बहुत प्यार करती हूं। मिस्टर सन भी अस्पताल के बिस्तर पर लेटे-लेटे पत्नी की चिट्ठियां आराम से पढ़ते और फिर उन्हें संभालकर रख लेते। 
लॉकडाऊन के दौरान भी दादी हुआंग हर रोज अस्पताल आती थीं। उन्हें कोई नहीं रोकता था, क्योंकि उनके प्यार को पूरा शहर जान चुका था। वो हर रोज कीवी फ्रूट और एक चिट्ठी लाती थीं और ICU के बाहर किसी नर्स को देकर चली जाती थीं। पिछले गुरुवार को जब लॉकडाउन हटा तब दादी हुआंग अस्पताल पहुंचीं और मिस्टर सन से मिलीं। उन्हें खूब प्यार किया और कीवी फ्रूट खिलाया।
Loading...