सही करवाया था अपना आधार कार्ड, फोटो की जगह छप गई कुत्ते की तस्वीर!

आपने अब तक हनुमान जी का आधार कार्ड देखा होगा, बकरे का आधार कार्ड देखा होगा यहां तक कि पालतूू कुत्ते का भी आधार कार्ड बनते हुए देखा होगा लेकिन पश्चिम बंगाल से आधार कार्ड से जुड़ा एक ऐसा मामला सामने आया जिसे देखने और सुनने वाले सभी हैरान हैं। पश्चिम बंगाल के पूर्वी बंगाल में रहने वाले सुनील करमाकर ने कुछ बदलाव के बाद जब अपना आधार कार्ड मंगवाया तो वे हैरान थे। सुनील ने जो जानकारियां दी थी वो तो सभी अपडेट थी लेकिन साथ ही अपडेट हो गई थी उनकी फोटो, लेकिन ये फोटो उनकी थी ही नहीं।
सुनीर करमाकर के वोटर आईडी कार्ड मे उनकी जगह कुत्ते की फोटो छाप दी गई जिसे देख सुनील जी काफी नाराज हैं। उन्होंने इलेक्शन कमीशन पर मानहानि का दावा करने का पैसाला किया है। उनका मानना है कि भारतीय निर्वाचन आयोग ने ऐसा जान बूझकर किया ताकि उन्हें सामाजिक तौर पर शर्मिंदगी उठानी पड़े। मुर्शिदाबाद के रामनगर गांव के रहने वाले 64 साल के मतदाता ने कहा, 'मेरे वोटर आईडी कार्ड में कुछ गलतियां थीं इसलिए मैंने उसे ठीक कराने के लिए आवेदन किया था। 
जब संशोधित कार्ड आया तो सूचना सही हो चुकी थी लेकिन मेरी फोटो बदल दी गई।' सरकारी अधिकारी ने कहा, 'ड्राफ्ट मतदाता सूची के प्रकाशन के बाद हमने कुत्ते की तस्वीर पर ध्यान दिया। मैं करमाकर के घर गया और उनकी तस्वीर लेकर आया। लेकिन मुझे इस बात का जरा सा भी अंदाजा नहीं है कि कैसे कार्ड कुत्ते की फोटो के साथ छप गया।' माना जा रहा है कि यह गलती बंगाल में राष्ट्रीय नागरिक पंजी को लेकर बड़े पैमाने पर जारी हलचल की वजह से हुई है। 
पिछले कुछ महीनों में, मुर्शिदाबाद जिले के 22 विधानसभा क्षेत्रों के 0.24 मिलियन नए मतदाताओं सहित 0.83 मिलियन से अधिक लोगों ने नए मतदाता पहचान पत्र और मौजूदा में गलतियों के सुधार के लिए आवेदन किया है। जिला प्रशासन ने सभी सरकारी कर्मचारियों की छुट्टी रद्द कर दी है ताकि किसी में कोई गलती न हो।
Loading...