'मोदीजी ने सारे रास्ते कर दिए हैं बंद..' नोट में लिखकर मेघालय के युवक ने की आत्महत्या!

देशव्यापी लॉकडाउन के बीच उत्तर प्रदेश के आगरा में एक दर्दनाक मामला सामने आया है। अपने घर न जा पाने की वजह से शहर के एक रेस्ट्रॉन्ट में मेघालय के रहने वाले एक कर्मचारी ने खुदकशी कर ली। मंगलवार की सुबह इसकी जानकारी तब हुई जब मरने से पहले उसने अपने मोबाइल से शिलॉन्ग में अपने परिजन को सूइसाइड की जानकारी दी थी। मेघालय पुलिस ने एडीजी आगरा को वह मैसेज फॉरवर्ड कर दिया, जिसके बाद पुलिस सक्रिय हुई। हालांकि, पुलिस युवक को बचा नहीं पाई। आगरा के रेस्ट्रॉन्ट की छत पर टिनशेड में फंदे से लटकी कर्मचारी की लाश बरामद की गई। 
रेस्ट्रॉन्ट यूपी सरकार के राज्यमंत्री के बेटे का बताया जा रहा है। जानकारी के अनुसार मेघालय के शिलॉन्ग के रहने वाले एल्ड्रिन लिंगदोह सिकंदरा इलाके में स्थित रेस्ट्रॉन्ट में नौकरी करता था। एल्ड्रिन ने मंगलवार को शिलॉन्ग में रहने वाले अपने परिजन को वॉट्सऐप पर सुइसाइड नोट भेजा। अंग्रेजी में लिखे नोट में उसने अपनी पूरी कहानी और हालातों का जिक्र करते हुए बताया कि वह एक गरीब परिवार में पैदा हुआ था और कुछ करने की चाहत में घर से निकल आया था। एल्ड्रिन ने नोट में लिखा, 'मैं आगरा में कारगिल पेट्रोल पंप के पास रेस्ट्रॉन्ट में काम कर रहा था। मोदी जी ने मेरे लिए सारे रास्ते बंद कर दिए। कोई जगह ऐसी नहीं थी जहां मैं जाता।'

एल्ड्रिन ने आगे लिखा, 'रेस्ट्रॉन्ट मालिक ने भी मुझ पर दया नहीं की। उन्होंने कह दिया कि जहां जाना हो, वहां जाओ। मैंने कहा कि मेरी मदद करो। मैं कहीं नहीं जा सकता। इसके बाद मैंने केवल एक ही रास्ता देखा था, आत्महत्या का। मैं आपसे एक मदद चाहता हूं। अगर आप मानवता रखते हैं तो कृपया मेरे शव को मेरे टाउन में पहुंचा देना, जिससे मुझे शांति मिल सके।' मेघालय की एडीजी कानून व्यवस्था ने आगरा के एडीजी अजय आनंद को यह मैसेज फॉरवर्ड करते हुए मामले की जानकारी दी।

इसके बाद मंगलवार सुबह एएसपी सौरभ दीक्षित पुलिस फोर्स के साथ रेस्ट्रॉन्ट पर पहुंचे। छत पर चढ़कर देखा गया तो टिनशेड में फंदे से युवक लटका मिल गया। पुलिस फिलहाल मामले की जांच कर रही है। एएसपी ने बताया कि राज्यमंत्री के परिजन से मिली जानकारी के अनुसार एल्ड्रिन पूर्व में चोरी में सिकंदरा थाने से जेल गया था। जमानत पर बाहर आया तो उसे टीवी की बीमारी हो गई थी। इसके बाद उसे नौकरी से निकाल दिया गया था। छह माह से वह दिल्ली में ही नौकरी कर रहा था।

वह लॉकडाउन के बाद यहां आ गया था। रेस्ट्रॉन्ट के कर्मचारियों से आकर मिला था। रेस्ट्रॉन्ट बंद था, इसलिए उसे काम पर नहीं रखा गया। वह सीढ़ी लगाकर छत पर चढ़ गया और खुदकशी कर ली। पुलिस इन सभी तथ्यों की जांच कर रही है। एएसपी ने बताया कि युवक की मोबाइल कॉल की डिटेल से यह पता किया जाएगा कि वो रेस्ट्रॉन्ट में कब से था। जांच के बाद मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। परिजन के आने का इंतजार किया जा रहा है।

Loading...