मास्क लगाने के लिए बोला तो कहा, "दिल्ली से आए हो क्या बे...इतना वहम क्यों, नहीं लेना तुम से सामान"

लॉकडाउन के दौरान कानपुर में सुबह 9.15 बजे विजय नगर गल्ला मंडी मार्केट। राशन की दुकानों में भीड़ लगी है। सोशल डिस्टेंसिंग के लिए बनाए गए गोलों के भीतर नहीं बल्कि उसके आसपास लोगों की भीड़ ने गोला बना रखा है। आटा, दाल, चावल, की मांग कर रहे लोगों को शायद लग रहा है कि सुबह 11 बजे तक कोरोना सो रहा है। 
11 बजे के बाद ही वह उठेगा और तब उससे बचना है। न तो कोई मास्क लगाए है और न ही किसी ने अपने चेेहरे को ढक रखा है। हैरत की बात है कि अगर कोई दुकानदार नियम का पालन करते हुए लोगों को बनाए गए गोलों में खड़े रहने की सलाह देता है तो लोग दिल्ली से आए हो क्या बे...इतना वहम क्यों, चलो नहीं लेना तुम्हारी दुकान से सामान कहते हुए आगे खिसक लेते हैं।

यही हाल विजय नगर सब्जी मंडी का है। इतनी भीड़ कि केवल लोगों के सिर ही सिर नजर आ रहे हैं। गल्ले की छोटी दुकान हो या बड़ी सब्जी का ठेला हो या पक्की दुुकान, एक दो लोगों को छोड़कर बाकी सब इस बीमारी की गंभीरता को नहीं समझ रहे हैं।
Loading...