चमत्कार, पता चल गया कोरोना वायरस की असली जड़ क्या है? सीडीसी की नयी रिपोर्ट में हुआ पूरा साफ!!

कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में अपना तहलका मचा रखा है। जिसको लेकर अब तक भारत सरकार बहुत शख्त होते हुए दिखाई दे रही है। दोस्तों कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में तहलका मचाने के साथ-साथ पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था को भी हिला दिया है। कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए अभी तक कोई दवाई तैयार नहीं की जा सकी है। कोरोना के कारण बहुत सारी छोटी बड़ी कंपनियां बंद होने के कगार पर है। इसलिए कई कंपनियां कर्मचारियों को घर से काम करने की अनुमति दे रही है।
अब तक सोशल मीडिया पर कई दावे किये गये हैं कि कोरोना वायरस कैसे फैला। अभी तक वो सारे दावे गलत साबित हुए हैं। यूएस सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) US Centers for Disease Control and Prevention (CDC) ने कोरोना वायरस पर अपनी ताजा रिपोर्ट जारी की है जिसमें उन्होंने बताया है कि चीन को हिला देने वाला ये वायरस कैसे आया और यह कैसे फैल रहा है। यूएस सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के अनुसार, कोरोना वायरस कोरोनविर्यूज़ वायरस का समूह है जो आमतौर पर जानवरों के बीच पाया जाता है और कुछ दुर्लभ मामलों में इसे जूनोटिक कहा जाता है। यह वायरस जानवरों से मनुष्यों में प्रेषित हुआ यानी कि जानवरो के साथ रहने से या जानवरों का मांस खाने से यह वायरस मनुष्य में पहुंच गया है।
यूएस सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के अनुसार, कोरोनवायरस सांस की बूंदों जैसे कि छींक या खांसी के माध्यम से सबसे अधिक फैलता है। यह बूंदे जैसे ही किसी पर पड़ती है या फिर किसी के संपर्क में आती है उसके 15 सेकेंड में ही संपर्क में आया व्यक्ति कोरोना की चपेट में आ जाता है। कोरोना वायरस सतह 48 घंटों कर असर में रहता है। यह आसपास 48 घंटों तक एक्टिंव रहेगी इस दौरान कोई भी व्यक्ति उसके संपर्क में आया तो उसे भी कोरोना वायरस का प्रकोप झेलना पड़ेगा।
Loading...