"किराए के मकान रह रहा छात्र दो दिन से पानी के साथ खा रहा था रोटी" और फिर...

छिंदवाड़ा शहर के श्रीवास्तव कॉलोनी में किराए के मकान में रह रहा एक छात्र दो दिनों से पानी के साथ रोटी खा रहा था। यह बात परतला के महाराजा सेवा समिति के सदस्यों को तब लगी जब वे घर-घर एवं विभिन्न क्षेत्र में जाकर गरीबों एवं असहाय लोगों की तलाश कर रहे थे। दरअसल कोरोना वायरस के चलते शहर में लॉक डाउन है। ऐसे में हर तबका प्रभावित हो रहा है। इसे देखते शहर के काफी समाजसेवी संस्था जरुरतमंदों को सामान पहुंचा रहे हैं। इस दौरान कई जरुरतमंदों की आवश्यकता से अधिक खाना और सामान पहुंच जा रहा है वहीं कुछ लोगों तक समाजसेवी संस्था नहीं पहुंच पा रही है। 
इसे देखते हुए परतला के महाराजा सेवा समिति के युवाओं ने ऐसे लोगों का पता लगाना शुरु किया जो किराए के मकान में रह रहे हैं या फिर जिनके पास कोई नहीं पहुंच पा रहा है। इसी दौरान युवाओं को पता चला कि श्रीवास्तव कॉलोनी में प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहा एक छात्र दो दिनों से पानी के साथ रोटी खा रहा है। उसके पास इतना पैसा भी नहीं है कि वह कुछ खरीद सके। ऐसे में परतला के महाराजा सेवा समिति के युवाओं ने मदद के लिए हाथ बढ़ाया। उसे खाना दिया और अन्य जरूरी सुविधाएं प्रदान की।

जब तक लॉकडाउन तब तक कराएंगे भोजन 

परतला के महाराजा समिति के उमेश चौहान ने बताया कि हमलोग लगभग 40 युवा पिछले चार दिनों से जरुरतमंदों को खाना पहुंचा रहे हैं। सभी युवा एक साथ मिलकर खाना बनाते हैं और उसकी पैकिंग कर शहर के विभिन्न क्षेत्रों में जरुरतमंदों को बांट रहे हैं। हमने सोशल साइट्स, वाट्सअप ग्रुप पर अपने मोबाइल नंबर भी डाल रखा है कि जिसे जो जरुरत हो तत्काल फोन करे। उमेश ने बताया कि दोपहर 12 से तीन बजे तक हमलोग शहर में खाना देने के लिए निकल रहे हैं। यह कार्य तब तक जारी रहेगा जब तक लॉकडाउन है
Loading...