बेटे ने बहन के लिए अपने माँ के साथ जो किया जानकर हैरान हो जाएंगे आप...

मां के अवैध संबंधों से नाराज बेटे ने अपने मौसा के साथ मिलकर बेटे ने उसे मौत के घाट उतार दिया। दूसरे दिन चाचा और मौसा की मदद से शव की पहचान मिटाकर उसे गंगनहर में फेंक दिया था। जिसके बाद पनकी नहर से महिला का शव पुलिस ने बरामद किया था। मृतक के दूसरे बेटे ने भाई और मौसा के साथ चाचा के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कराया था। जिसके बाद हरकत में आयी पुलिस ने तीनों को धर दबोचा। पुलिस की पूछताछ में तीनों ने हत्या की बात कुबूल की है।
जिले के बिल्हौर क्षेत्र में थाना ककवन के कुरेह गांव में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई। गांव के रामजीत उर्फ कुन्नू पुत्र सोबरन ने अपनी मां के अवैध सम्बन्ध से नाराज होकर बीती 21-22 फरवरी की रात सोते समय मां कुल्हाड़ी से काट डाला और एक दिन शव को घर पर रखने के बाद चाचा वंशी व परिवारिक मौसा भईयालाल की मदद से मृतक मां शिवकुमारी के हाथ, सिर, पैर काट कर शव को नहर पुल के समीप फेंक दिया।

हत्या के १५ दिन बाद 08 मार्च को पनकी नहर मे महिला का शव पुलिस ने बरामद किया था। जिसकी पहचान शिवकुमारी रूप में हुई थी। इस मामले में मृतका के दूसरे बेटे दुर्गेश उर्फ बब्लू जो अपने परिवार के साथ राजस्थान मे रहता था उसमे चाचा वंशी व परिवारिक मौसा भईया लाल सहित अपने भाई राम जीत उर्फ कुन्नू के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कराया था। हत्याकांड के बाद तीनों फरार थे। मामले पुलिस ने सक्रियता दिखाई और तीनों को हरी पुरवा मोड़ से गिरफ्तार कर लिया। पहले हत्यारे बहानेबाजी करते पर पुलिस ने सख्ती दिखाई तो उन्होंने हत्या की बात कुबूल कर ली। 

हत्यारों की निशानदेही पर पुलिस ने हत्या का हथियार भी बरामद कर लिया। पुलिस ने बताया कि मृतक शिवकुमारी की पुत्री व राम जीत उर्फ कुन्नू की बहन की शादी मई में होनी थी, लेकिन शिवकुमारी इस रिश्ते के खिलाफ थी। उसने अपनी पुत्री का रिश्ता भी तुड़वा दिया था। जिससे कुन्नू खुन्नस में था, इधर एक कुरेह गांव के शातिर के साथ उसके अवैध सम्बन्ध से भी राम जीत खुन्नस मानता था। ऐसे मे उसने एक रात शराब के नशे कुल्हाड़ी से मां को मौत के घाट उतार दिया।
Loading...