गाँव में आसमान से गिरा कुछ ऐसा की मच गया भगदड़ और फिर जब पास से देखा तो...

महाराजपुर विधायक नीरज दीक्षित के गांव उर्दमऊ में उस वक्त हड़कंप मच गया, जब लोगों ने आसमान से किसी डिवाइस गिरते हुए देखा। डिवाइश में इलेक्ट्रिक प्लेट लगी होने के कारण बम होने की खबर फैल गई। बाद में पहुंची पुलिस ने भी लोगों को दूर रहने की सलाह देते हुए सावधानी पूर्वक जांच की। बाद में बम स्क्वॉड सागर द्वारा इसे बम नहीं होना बताया, जिसके बाद लोगों ने राहत की सांस ली।
दरअसल, शुक्रवार की शाम उर्दमऊ गांव में एक संदिग्ध डिवाइस को आसमान से गिरते हुए लोगों ने देखा था। बाद में यह डिवाइस मिलने से हड़कंप मच गया। आनन-फानन में ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर जाकर देखा गया कि हरजुआ कुशवाहा के खेत पर एक संदिग्ध गुब्बारा उड़ता दिखाई दिया था। गुब्बारा आकर एक पेड़ से टकराया और नीचे गिर गया। 
गुब्बारे के साथ में एक डिवाइस और कुछ वायरिंग थी, जिससे किसान घबरा गया और स्थानीय लोगों को सूचना दी। जानकारी लगते ही मौके पर ग्रामीण जुटने लगे और पूरे क्षेत्र में बम मिलने की खबर फैल गई। सूचना पर पहुंची गढ़ीमलहरा थाना पुलिस ने संदिग्ध डिवाइस के आसपास से ग्रामीणों को हटाया और वरिष्ठ अधिकारियों को घटना की सूचना दी। 
साथ ही सागर बम स्क्वॉड से भी चर्चाकी गई। जहां से डिवाइस के फोटो- वीडियो भेजने की बात कही गई। इसके बाद स्क्वॉड ने कन्फर्म किया कि यह कोई बम नहीं हैं। गढ़ी महलरा थाना प्रभारी स्वर्णप्रभा दुबे ने बताया कि जैसे कि बम स्क्वॉड सागर को फोटो-वीडियो भेजे गए, उसके बाद उनका रिप्लाई आता है कि यह बम नहीं हैं। 
जबकि यह डिवाइस मौसम विभाग के द्वारा मौसम संबंधी सूचनाओं को जुटाने के लिए छोड़ा जाने वाली एक डिवाइस हैं। जो कि फेल हो जाने के वजह से यहां गिर गई हैं। उन्होंने सागर में एक भी एक इसी तरह का प्रकरण सामने आने की बात बताई। इसके बाद पुलिस और ग्रामीण आश्वस्त हुए। बाद में उक्त डिवाइस को पुलिस ने जब्त किया गया।
Loading...