मां ने एक दिन की बच्ची के सीने में हंसिया घोंपकर मार डाला, मासूम की चीखें सुन डॉक्टरों के भी आंख में आया आँसू...

दरअसल, यह दुखद घटना 14 फरवारी को इंदौर शहर में सामने आया था। जहां आरोपी मंजू ने डिलीवरी के एक दिन बाद अस्पताल से छुट्टी कराने के बाद घर पहुंचते ही अपनी फूल सी बच्ची के सीने में हंसिया घोंप दिया। इसके बाद पेट और गर्दन पर भी कई वार कर किए। मासूम की चीखें सुनकर पड़ोसी आ गए। जानकारी के मुताबिक, महिला ने कहा- बेटे की चाहत में उसने इस वारदात को अंजाम दिया है।

अधूरा इलाज कराकर महिला ने करा ली थी छुट्टी
मंजू ने 12 फरवरी की आधी रात को बच्ची को जन्म दिया था। जहां उसके परिजनों ने  13 फरवरी की सुबह अधूरा इलाज कराकर मंजू की छुट्टी करा ली। फिर जब घर पहुंचकर महिला ने बच्ची पर हमला किया तो उसके घरवालों ने नवजात को शाजापुर के जिला हॉस्पिटल में भर्ती कराया था। यहां के डॉक्टरों ने नवजात को बुधवार शाम उसे इंदौर के एमवाय हॉस्पिटल रेफर किया गया था। 

11 फरवरी को दुनिया में आई थी बच्ची...

बच्ची को एमवाय हॉस्पिटल में ऑपरेशन के बाद पीडियाट्रिक आईसीयू में वेंटीलेटर पर रखा गया था। डॉक्टर भी मासूम की हालत देखकर भावुक हो उठे थे। उन्होंने बच्ची को बचाने कोई कसर नहीं छोड़ी, पर उसे बचा नहीं सके।  डॉक्टरों के सामने महिला और उसके पति ने झूठी कहानी गढ़ दी और कहा कि  डिलीवरी के बाद तेज ब्लीडिंग हुई थी।
Loading...