लॉकडाउन : देसी शराब बनाने का धंधा पकडा, गांव में बन रही थी शराब

कोरोना वायरस के खतरे में शराब की दुकानें बंद कराई गई हैं, ऐसे में अवैध तरीके से देसी षराब बनाने का वाले ने धंधा जमाया है। जहरीली शराब बनाने के लिए कुख्यात रहे जलालपुर में देसी भटिटयों पर कच्ची शराब बनाने का काम किया जा रहा था।
सोमवार को पुलिस ने गांव में दविष दी तो फोर्स को देखकर कच्ची शराब उतारने वाले रेल पटरियों और नाले को लांघकर भाग गए। घेराबंदी में एक आरोपी पकडा गया। मौके पर पुलिस को करीब 70 लीटर देसी शराब, उसे बनाने में इस्तेमाल लहान और कैमीकल मिले।

सीएसपी रवि भदौरिया ने बताया जलालपुर में इन दिनों फिर कच्ची शराब उतारने की भटिटयां लगाई गई थीं। गांव के पिछले हिस्से में रेल पटरियों के किनारे लहान और जहरीले कैमीकल मिलाकर देसी शराब उतारी जा रही थी। सोमवार को इस अडडे पर दविश दीं। धंधा बलराम उर्फ बल्लू लोधी, देवेन्द्र और जग्गू लोधी के यहां चल रहा था। पुलिस गांव में घुसी तो षराब बनाने वालों को पता चल गया।

आरोपी भटिटयां छोडकर भागे। इनमें बलराम को पीछा कर दबोच लिया। बाकी भाग गए। अडडे से प्लास्टिक के ड्र्मों में षराब भरी थी। तमाम पाउच भरे थे। उन्हें समेट कर थाने लाया गयां अब बल्लू से पूछा जा रहा है कि कारोबार किसके इषारे पर चल रहा था। जो षराब बनाई जा रही थी उसकी सप्लाई कहां थी।
Loading...