कोरोना की महामारी के समय इस लड़के ने ऐसी फ़ोटो डाल दिया सोशल मीडिया पर और फिर...

रामगढ़ और हजारीबाग के सीमावर्ती इलाकों के जंगल में हिरन का शिकार होने के बाद वन विभाग के अधिकारियों ने हाई अलर्ट जारी किया है। दोनों जिलों की सीमा पर घने जंगलों में आदिवासी लोग हिरण का शिकार कर रहे हैं। इस मामले में मंटू टूडू को भी गिरफ्तार किया गया है।
इस पूरे मामले की जानकारी देते हुए डीएफओ विजय शंकर दुबे ने बताया कि चरही और मांडू के बीच में रौता वन क्षेत्र पड़ता है। वन विभाग वनपाल गणेश राम क्षेत्र में गश्त लगा रहे थे। इसी दौरान उन्हें पता चला कि रौता गांव के मंटू टुडू ने हिरण के दो बच्चों का शिकार किया है और फिर उसे खा गया है। उसने हिरण के शिकार की तस्वीर भी अपने सोशल मीडिया फेसबुक पर वायरल की थी।

इसके बाद तत्काल उन्होंने इस मामले की जानकारी फॉरेस्टर ओमप्रकाश सिंह को दी। इसके बाद एक टीम बनाकर रौता गांव निवासी मंटू टूडू को गिरफ्तार कर लिया गया। प्रभागीय वनाधिकारी (डीएफओ) विजय शंकर दुबे ने बुधवार को दोहराया कि वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 1972 के तहत जंगली जानवरों को मारने पर प्रतिबंध है।

उन्होंने कहा कि इस अपराध के लिए तीन और सात साल के कारावास के बीच अदालत द्वारा निर्णय लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि फोटो के वायरल होने के बाद पूरा मामला प्रकाश में आया था। मंटू टुडू ने कबूल किया था कि उसने हिरन के बच्चे का शिकार किया है और बाद में फिर उसका मांस भी खाया है। लेकिन उसने यह भी कहा कि उसे इस कानून के बारे में कोई जानकारी नहीं थी।
Loading...