जब DM और SSP सादे कपड़े में आम आदमी बन पहुंचे बाजार, और आगे क्या हुआ जानें...

कोरोना वायरस के मद्देनजर लगाए गए लॉकडाउन के बीच सिर्फ जरूरती सामानों की दुकान खोलने की अनुमति सरकार द्वारा दी गई है। जिसके चलते राशन, फल, सब्जी, दूध व दवाई की दुकानें खोली जा रही हैं। इस सबके बीच प्रशासन को सोशल मीडिया व फोन पर लगातार शिकायतें प्राप्त हो रही थीं कि कई दुकानदार महंगे रेट पर सामान बेच रहे हैं।
लॉकडाउन के बीच तमाम दुकानदारों ने रोजमर्रा के सामानों के दाम अचानक बढ़ा दिए हैं। वाराणसी के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी सादे कपड़े में आम आदमी बन बाजार में पहुंचे। इसकी शिकायत मिलने पर डीएम-एसएसपी सोमवार को सादे कपड़े में चेतगंज थाना क्षेत्र के दलहट्टा, चेतगंज, मंसाराम फाटक आदि इलाको में रोजमर्रा के सामानों की खरीदारी करने पहुंचे।

इस दौरान कई दुकानदारों ने उन्हें पहचाना नहीं। ज्यादा मूल्य पर सामान बेच रहे कई दुकानदारों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। डीएम कौशलराज ने कहा- इस आपदा काल में जब लोग एक दूसरे की यथा सम्भव मदद के लिए आगे आ रहे हैं तब इस तरह का कृत्य बहुत ही आपत्तिजनक है। आगे भी जो दुकानदार इस तरह से निर्धारित मूल्य से अधिक दाम पर सामान का विक्रय करेगा वो जेल जाएगा।
Loading...