IPS अधिकारी की बनाई फर्जी फेसबुक आईडी, लोगों से कहा कोरोना से लड़ने के लिए इस खाते में भेजे पैसे और फिर...

नोबेल कोरोना वायरस से बचाव के लिए जहां आईपीएस प्रेम प्रकाश लोगों की मदद करके सुर्खियों में है। वहीं उनके नाम पर फर्जीवाड़ा करने वाले साइबर अपराधियों के बड़े कारनामे का खुलासा हुआ है। जिसकी जानकारी एडीजी प्रयागराज प्रेम प्रकाश ने देते हुए कार्यवाही के निर्देश दिए हैं। कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन में पीड़ितों के नाम पर फर्जीवाड़ा शुरू हो गया है। साइबर के शातिर अपराधी लोगों के मदद के नाम पर ठगी में जुट गए हैं। 
ऐसा ही कारनामा हुआ हैं जो एडीजी जोन प्रेम प्रकाश के नाम पर हुआ है। साइबर अपराधियों ने प्रयागराज के एडीजी जो प्रेम प्रकाश के नाम पर फेसबुक पर एक फर्जी प्रोफाइल बनाकर लोगों से मदद के नाम पर रुपए मांगे हैं। फर्जीवाड़ा करने वालों की जानकारी मिलने पर कैंट पुलिस ने साइबर अपराध का मुकदमा दर्ज किया है। कैंट पुलिस के मुताबिक बताया गया है कि किसी ने एडीजी जोन प्रेम प्रकाश के नाम पर फेक आईडी से फेसबुक पर प्रोफाइल बनाई है। जिसमें उनसे जुड़े हुए लोगों और परिचितों को मैसेज किया जा रहा था। इसमें लिखा था कि कोरोना के कारण लॉकडाउन चल रहा है।

मजदूरी करने वाले बेरोजगार लोगों की मदद के लिए अकाउंट नंबर दिया गया था। जिस पर पैसे मांगे जा रहे थे। एडीजी जोन प्रेम प्रकाश ने बताया कि उनके कुछ परिचित और उन्हें फोन करके इसके बारे में जानकारी कि वह हैरान रह गए ।उन्होंने साइबर सेल की मदद से फर्जीवाड़ा करने वाले को ट्रेस करने का निर्देश दिया। वहीं उन्होंने स्पष्ट किया कि उनकी फेसबुक पर फेक आईडी है। इस पर यकीन न करें किसी भी तरीके से किसी भी खाते में पैसा न भेजें ।उन्होंने किसी से कोई मदद नहीं मांगी है। मामले की जांच एसपी क्राइम कर रहे हैं।
Loading...