दिल्ली से UP जाने वाले मज़दूरों से बसों ने कितने रुपए वसूल लिए? जबकि मुफ्त था...

कोरोना वायरस के तेज़ी से फैलने की वजह से पूरा देश लॉकडाउन है. इस बीच मज़दूरों ने काम बंद होने और रहने की जगह न होने की वजह से पैदल ही पलायन शुरू कर दिया था. कई राज्यों ने मज़दूरों के लिए बस सेवा शुरू करने का ऐलान किया था. इनमें यूपी भी शामिल था. यूपी सरकार की बस सेवा 28 मार्च की रात शुरू हुई और देखते ही देखते सोशल मीडिया भर गया. किससे? बस के टिकटों की तस्वीरों से. ट्विटर पर कई टिकटों की तस्वीरें वायरल हो रही हैं, जिनमें दिख रहा है कि यूपी स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन ने किराए के तौर पर काफी ज्यादा पैसे वसूले हैं.

टिकटों पर कीमतें क्या लिखी हैं?
जैसे एक टिकट पर दिख रहा है कि 29 मार्च की रात 12 बजकर 21 मिनट पर आनंद विहार से उन्नाव तक जो बस गई है, उसमें 692 रुपए का टिकट लगा है. वहीं 28 मार्च को 12 बजकर 43 मिनट पर कैसरबाग से बस्ती तक के लिए 270 रुपए वसूले गए हैं. 28 मार्च को 3 बजकर 25 मिनट पर आनंद विहार से कैसरबाग तक के लिए 628 रुपए लिए गए हैं. ये सभी किराए उन मज़दूरों से लिया गया है, जो पैसे न होने के चलते ही अपने घर वापस जा रहे थे.
Loading...