कोरोना का खौफ, पार्क में पड़े 100 50 और 10 के नोट नहीं उठाए, लोग बोले जलाओ तो पुलिस ने जल दिया

आगरा के आवास विकास सेक्टर आठ के पार्क में शुक्रवार सुबह 100, 50 और 10-10 के नोट पड़े देखे फिर भी लोगों ने उठाए नहीं, बल्कि इनसे दूर हो गए। सूचना देकर पुलिस को बुला लिया और कहने लगे कि इन्हें किसी ने साजिश के तहत संक्रमण फैलाने के लिए यहां फेंका है। नोट थोड़े से कुतरे हुए थे। पुलिस ने ग्लब्स पहनकर इन्हें उठाया, लेकिन बाद में लोगों की बातों में आकर इनमें आग लगा दी।
एक युवक ने पार्क में सुबह नौ बजे ये नोट पड़े देखे। एक युवक ने दूसरे से कहा, दूसरे ने तीसरे से और बात फैल गई। लोग जमा हो गए। एक-एक कर सबने कहा कि नोट उसके नहीं हैं। इसके बाद कुछ युवक नजदीक गए। उन्होंने बताया कि नोट कुतरे हुए हैं। अब इसी पर चर्चा शुरू हो गई कि इसका क्या मतलब है?

युवक बोले कि ये चूहे के कुतरे हुए लग रहे हैं। महिलाओं ने कहा कि यदि चूहे के कुतरे होते तो कोई क्यों फेंकता। जरूर किसी ने साजिश के तहत इन्हें दांतों से कुतरकर फेंका है। यह संक्रमण फैलाने की साजिश हो सकती है। उन्होंने कहा कि ऐसा कैसे हो सकता है कि जगह-जगह नोट पड़े मिलें? इससे पहले एटा में मिल चुके हैं।

नोट सबसे पहले एक युवक को नजर आए। वह पास में ही रहता है। टहलने के लिए निकला था। उसने कॉलोनी के लोगों को बताया तो भीड़ जमा हो गई। पुलिस को सूचना दे दी गई। सिपाही ने ग्लब्स पहनकर नोटों को एकत्र किया। नोटों की संख्या आठ-दस ही थी। कुल 590 रुपये थे। पुलिसवालों से लोग बोले कि इन्हें लेकर मत जाओ, खतरा है, यहीं जला दो। इस पर पुलिस ने उनकी बात मान ली और नोटों को जला दिया।