बिहार के बाहर रह रहे लोगों के खाते में भेजे जा रहे हैं 1000 रुपए, अब तक 5 लाख से भी अधिक को मिला लाभ!

बिहार की राजधानी में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सूचना जनसम्पर्क विभाग के सचिव अनुपम कुमार, स्वास्थ्य विभाग के सचिव संजीव हंस, लोकेश कुमार सिंह एवं आपदा प्रबंधन विभाग के नोडल पदाधिकारी संजय सिंह ने मीडियाकर्मियों को कोरोना संक्रमण के बचाव के लिए किये जा रहे कार्यों की जानकारी दी. 
इस वीडियो कॉन्फ्रेंस में राहत के लिए किए जा रहे अब तक के कार्यों को भी बताया गया. स्वास्थ्य विभाग के सचिव संजीव हंस ने बताया कि अब तक राज्य में कोरोना के 64 पाजिटीव मरीज सामने आए हैं और 6676 लोगों की जांच हो चुकी है. सूचना जनसंपर्क विभाग के सचिव अनुपम कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि मुख्यमंत्री के स्तर पर स्थिति की लगातार समीक्षा की जा रही है, जिसमें सघन ट्रेसिंग और अधिक से अधिक टेस्टिंग पर जोर दिया जा रहा है. 

बिहार में 150 आपदा राहत केन्द्र चलाए जा रहे हैं जिसका लाभ 20,567 लोग उठा रहे हैं. लॉकडाउन के कारण बिहार के बाहर फंसे बिहार के लोगों के अब तक 8 लाख 53 हजार आवेदन प्राप्त हुए हैं, जिनमें 5 लाख 22 हजार आवेदकों के खाते में 1000 रुपये की राशि भेज दी गई है. मुख्यमंत्री के निर्देश पर बिहार फाउंडेशन की ओर से राज्य के बाहर 12 शहरों में 47 राहत केन्द्र चलाए जा रहे हैं जिससे 5 लाख 26 हजार 340 लोग लाभान्वित हो रहे हैं. 

सूचना जनसम्पर्क विभाग के सचिव अनुपम कुमार ने कहा कि बिहार में रहने वाले राशनकार्डधारियों के खाते में भी राशि भेजी जा रही है, अब तक 56 लाख राशनकार्डधारियों के खाते में 1000 रुपये भेज दिए गये हैं और 28 लाख राशनकार्डधारियों के खाते में सोमवार यानी कल तक 1000 रुपये की राशि भेज दी जाएगी.