लॉकडाउन में 12 दिन पैदल चलकर घर पहुँचे युवक की 5 घंटे में हो गई मौत...

उत्‍तर प्रदेश के श्रावस्ती में सोमवार सुबह मुंबई से लौटे युवक की चार घंटे बाद क्वारंटाइन सेंटर में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। स्वास्थ्य टीम ने कोरोना जांच के लिए सैंपल भेजा है। रिपोर्ट आने तक शव को जिला अस्पताल में सुरक्षित किया गया है।
मामला मल्हीपुर थाना क्षेत्र के मटखनवा गांव का है। युवक सुबह लगभग सात बजे बहराइच के रास्ते पैदल यात्रा करते हुए अपने गांव पहुंचा। यहां उसे सीधे प्राथमिक विद्यालय मटखटना में क्वारंटाइन कर दिया गया। लगभग 10.30 बजे उसे पेट दर्द के साथ उल्टी दस्त शुरू हो गई। ग्राम पंचायत सचिव ने युवक की हालत गंभीर होने की सूचना भंगह सीएचसी अधीक्षक डॉ. प्रवीण कुमार को दी। 

सीएचसी से एंबुलेंस भेजा जा रहा था। लेकिन तब तक उसकी मौत हो गई। सीएचसी अधीक्षक के साथ सीएमओ डॉ. एपी भार्गव, डिप्टी सीएमओ डॉ. मुकेश मातनहेलिया, सीओ हौसल प्रसाद, मल्हीपुर थानाध्यक्ष देवेंद्र पांडेय पुलिस टीम के साथ पहुंचे। सीएमओ ने बताया कि मृतक की कोरोना जांच के लिए सैंपल भेजा गया है। क्वारंटाइन सेंटर में पहुंचने के बाद उसके संपर्क में आए परिवार के आठ लोगों को स्कूल में ही क्वारंटाइन किया गया है। सैंपल रिपोर्ट आने के बाद ही अंतिम संस्कार कराया जाएगा।  

12 दिनों में पैदल चलकर पहुंचा था गांव

मुंबई में मजदूरी कर रहा युवक लॉकडाउन में काम बंद होने के बाद से परेशान था। घर पहुंचने का कोई रास्ता न निकलते देख 12 दिन पूर्व वह पैदल ही चल पड़ा। रास्ते में ट्रक आदि वाहनों का सहारा लेते हुए किसी तरह गांव पहुंचा था। यहां सुकून से चार घंटे भी गांव के लोगों के साथ नहीं रह सका।