15 अप्रैल से ट्रेनों में रिजर्वेशन कराकर सफर को लोग हैं तैयार यात्री, एसी में सीटें फुल!

राष्ट्रीय आपदा कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए 22 मार्च से 14 अप्रैल तक लॉकडाउन का आदेश जारी किया गया है। पुलिस-प्रशासन द्वारा लगातार लोगों को घरों में रहने की समझाइश दी जा रही है। हालांकि कुछ लोग इसे अभी भी मजाक में ले रहे हैं और घरों से निकल रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ लोगों को यह उम्मीद है कि 15 अप्रैल से ट्रेनों का परिचालन भी शुरु हो जाएगा। 
यही वजह है कि इस तिथि से ट्रेनों में रिजर्वेशन भी लगभग फूल हो चुके हैं। छिंदवाड़ा से भोपाल की बात करें तो बुधवार तक पेंचवैली फास्ट पैसेंजर में 15 अप्रैल के दिन यात्रा के लिए स्लीपर में महज 96 और थर्ड एसी में 37 सीट शेष थी। वहीं पातालकोट एक्सप्रेस में स्लीपर में 90, सेकंड एसी में 14 और थर्ड एसी में एक भी सीट खाली नहीं थी। 

वहीं 16 अप्रैल को छिंदवाड़ा से भोपाल यात्रा के लिए पेंचवैली फास्ट पैसेंजर के स्लीपर बोगी में 58 सीट एवं थर्ड एसी में 39 सीट शेष रह गई थी। जबकि पातालकोट एक्सप्रेस में स्लीपर में 169, थर्ड एसी में 35 एवं सेकंड एसी में 19 सीट शेष थी। वहीं 17 अप्रैल को पातालकोट एक्सप्रेस में स्लीपर में 123, सेकंड एसी में 18 एवं थर्ड एसी में एक भी सीट खाली नहीं थी। जबकि पेंचवैली फास्ट पैसेंजर में स्लीपर में 70 एवं थर्ड एसी में 38 सीट खाली थी।

ऑनलाइन माध्यम से कर रहे रिजर्वेशन 

वर्तमान में सभी रेलवे स्टेशन में काउंटर से रिजर्वेशन की प्रक्रिया बंद है। ऐसे में यात्री ऑनलाइन माध्यम से ट्रेनों में रिजर्वेशन करा रहे हैं। वहीं स्टेशन प्रबंधक संतोष श्रीवास का कहना है कि रेलवे नियम के अनुसार यात्री यात्रा से 120 दिन पहले ट्रेनों में रिजर्वेशन करा सकता है। संभव है कि पहले ही यात्रियों ने ट्रेनों में रिजर्वेशन कराया हो। इसके अलावा रेलवे बोर्ड ने 14 अप्रैल तक ही ट्रेनों के परिचालन को रद्द करने का आदेश जारी किया है। यात्री इस वजह से ऑनलाइन माध्यम से ट्रेनों में रिजर्वेशन करा रहे होंगे।
Loading...