17 घंटे तक सड़ता रहा कोरोना मरीज का शव, फिर अचानक हुआ ऐसा, भागे सब

यूपी में कोरोना को लेकर काफी कोशिशे कदम उठाए जा रहे हैं लेकिन लोगों के समर्थन ना मिल पाने के कारण हालात बहुत खराब होते जा रहे हैं। हाल में एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। ये घटना गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज है जहां कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद जान गंवाने वाला युवक यहां पर 17 घंटे तक भर्ती रहा। इस दौरान वह मेडिसिन विभाग में करीब 60 मरीजों का इलाज चल रहा था।
बता दें कि लापरवाही के बाद मेडिकल कॉलेज में हाई अलर्ट जारी हो गया है, वहीं करीब एक दर्जन मरीज हॉस्पिटल से जान बचाने के लिए भाग खड़े हुए हैं। सूत्रों से पता चला है कि हसनैन को बस्ती से 29 मार्च को दोपहर को गंभीर हालत में लाया गया था। उसके लीवर में परेशानी बताई गई। उसके बाद 17 घंटे इलाज चलाए रखा और उसकी मौत हो गई उसके बाद फिर 3 घंटे तक शव पड़ा रहा जिसमें करीब 60 मरीज भर्ती थे।

जब लोगों को इस बात का पता चला तो करीब एक दर्जन मरीज भाग खड़े हुए। लापरवाही के कारण अब इन मरीजों को भी ट्रेस कराया जा रहा है ताकि उन्हें भी होम क्वारंटीन किया जा सके। सूत्रों के अनुसार जैसे ही मरीजों को पता चला कि किसी की मेडिकल कॉलेज में कोरोना से मौत हुई है, दहशत फैल गई। इसके बाद हॉस्पिटल में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया।