लॉकडाउन के दौरान जंगल के रास्ते आ रहे थे बेचने के लिए, 20 लीटर शराब के साथ पकड़ा गया युवक


कोरोना वायरस के फैलने से रोकने पूरे देशभर लॉकडाउन लगाया गया है। वहीं शराब माफिया, कोचिया तथा नशे के व्यवसायी इसका भरपूर लाभ लेने में जुटे हुए हैं। लगातार कार्रवाई के बावजूद क्षेत्र में कोचिये सक्रिय होकर कच्ची शराब महंगे दामों में बेच रहे हैं। समीपस्थ ग्राम खुज्जी, पांगरी, बेंदरकटा सहित अनेक ग्रामों में वनांचल से कच्ची शराब लाकर बेचे जाने की शिकायत लगातार आ रही है। 
सोमवार सुबह ग्राम बेंदरकटा स्थित चांदो डायवर्सन नहर के पास कच्ची शराब लेकर अपने मोटरसाईकिल क्र.सीजी 08 एनबी 7993 से आ रहे खुज्जी निवासी शराब कोचिया पुलिस के हत्थे चढ़ गया। सत्ता पक्ष से जुड़े उक्त कोचिया ने पहले तो अपने प्रभाव व रौब से पुलिसकर्मियों को डराने का प्रयास किया। वहीं थोड़ी देर बाद ही मीडियाकर्मियों के पहुंचने पर उक्त शराब कोचिये ने पॉलिथीन में रखी कच्ची शराब को गिराकर साक्ष्य मिटाने का प्रयास भी किया। 

वहां मौजूद ग्रामीणों ने बताया कि उक्त कोचिया एक प्लास्टिक की केन तथा एक बड़े प्लास्टिक बैग में कच्ची शराब लेकर आ रहा था जिसे शक होने पर पुलिसकर्मी ने रोका और पकड़ा। उक्त शराब कोचिया ने मीडिया को बताया कि वह ग्राम मरकाकसा से बीस लीटर शराब लेकर आ रहा था, जिसे खुज्जी व आसपास के क्षेत्र में विक्रय किए जाने की बात स्वीकारी। ज्ञात हो कि उक्त कोचिये को बचाने के लिए जनपद से जुड़े एक प्रतिनिधि तथा सत्ता पक्ष के अनेक नेता लगातार सक्रिय नजर आ रहे थे और समाचार लिखे जाने तक पुलिस ने कार्रवाई नहीं की थी।