बेबी डिलीवरी के केवल 22 दिन बाद ही बच्चे संग लौट आईं ड्यूटी पर, बताया, "ये समय देश को समर्पित"

वैश्विक महामारी बन चुका कोरोना वायरस अब देशभर में फैल चुका है. इस जानलेवा वायरस ने अब तक 9,152 लोगों को अपनी चपेट में ले लिया है, जबकि 308 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. लेकिन इस बीच कुछ ऐसे भी लोग मौजूद हैं, जो इस मुश्किल समय में भी अपना पूरा-पूरा योगदान दे रहे हैं. वह अपने घर परिवार की चिंता किए बिना देश को इस मुसीबत की घड़ी से निकालने के लिए अपनी पूरी जान लगा दे रहे हैं.
आज के इस लेख में हम आपको ऐसी ही एक कहानी सुनाने जा रहे हैं. ये कहानी है कोरोना फाइटर श्रीजना की. श्रीजना विशाखापत्तनम नगर निगम की आयुक्त हैं. वैसे तो कई लोग इस संकट की घड़ी में मदद के लिए आगे आये हैं, लेकिन देखा जाए तो असल मायने में श्रीजना ही असली कोरोना योद्धा हैं. जानकारी के लिए बता दें कि 22 दिन पहले ही श्रीजना एक बच्चे की मां बनी हैं. 
उन्हें घर में रहने की सलाह दी गयी है, लेकिन ऐसी मुश्किल की घड़ी में जब उनकी जरूरत दफ्तर में पड़ी तो वह बिना किसी खौफ ऑफिस आ गईं. श्रीजना की मानें तो इस समय जब पूरा देश कोरोना के संक्रमण से जूझ रहा है तो ऐसे में उनके लिए परिवार की जिम्मेदारियों से ज्यादा जरूरी देश के प्रति फर्ज अदा करना है. कोरोना से देश में इस समय तहस-नहस की स्थिति है, इसलिए वह अपनी डिलीवरी के महज 22 दिन बाद ही ड्यूटी पर लौट आईं.
दरअसल, बच्चे के जन्म के बाद से ही देश में कोरोना वायरस के चलते 21 दिनों का लॉकडाउन कर दिया गया था. लेकिन ऑफिस में अधिक काम और उनकी जरूरत को देखते हुए उन्होंने दफ्तर वापस आने का फैसला लिया. श्रीजना ने कहा कि हालात कुछ ठीक नहीं होने की वजह से उनका फर्ज बनता है कि इस बुरे समय में वह देश के लिए काम करें. श्रीजना ने हाल ही में एक इंटरव्यू दिया, जहां उन्होंने बताया कि इस मुश्किल वक्त में उन्हें वकील पति और मां से पूरा सपोर्ट मिल रहा है. उनके सपोर्ट की वजह से ही वह अपने ऑफिस का काम कर पा रही हैं. 
वह हर चार घंटे बाद अपने बच्चे को दूध पिलाने घर जाती हैं और दोबारा ऑफिस आ जाती हैं. इस बीच उनके पति और उनकी मां नवजात बच्चे की देखभाल करते हैं. हालांकि बहुत बार श्रीजना अपने बेबी को ऑफिस लेकर भी आ जाती हैं और बच्चे को गोद में लेकर अपना सारा काम देखती हैं. सोशल मीडिया पर श्रीजना की उनके बच्चे के साथ तस्वीर काफी वायरल हो रही है और लोग उनके जज्बे को सलाम कर रहे हैं.