कोरोना से स्वस्थ होकर घर लौटे 2 मरीजों में फिर से कोरोना वायरस की हुई पुष्टि, रिपोर्ट देखकर डॉक्टर भी हुए हैरान

कोरोना से मुक्त घोषित दो मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव होने के बाद उन्हें दोबारा ग्रेटर नोएडा के जिम्स में भर्ती करने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि दोनों फिर से कोरोना वायरण के लक्षण मिले हैं। फिलहाल दोनों मरीजों को भर्ती करते हुए इलाल शुरू कर दिया गया है। इसके साथ ही सैंपल लेकर चौथी बार जांच के लिए भेजे गए हैं। डॉक्टर इस स्थिति को देखकर असमंजस में हैं और कारणों की जानकारी भी जुटा रहे हैं। 
आपको बता दें कि इन दोनों मरीजों के संपर्क में आने वाले लोगों को भी क्वारंटीन कर दिया गया है। बता दें कि बीते दो दिनों कोविड-19 के किसी मरीज की पुष्टि नहीं हुई, जिन 43 संदिग्ध मरीजों की जांच की गई है, उन सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इसके अलावा एक मरीज जिम्स में ठीक हुआ है। नोएडा के सेक्टर-137 स्थित 21 वर्षीय युवती और सेक्टर-128 का एक युवक दो जांच निगेटिव आने के बाद भी पॉजिटिव हो गए हैं। दोनों को तीन दिन पहले इलाज के बाद घर भेज दिया गया था। विशेषज्ञ इसके कारण की जांच रहे हैं। 

ठीक हुए मरीजों को घर भेजने से पहले तीसरी जांच के लिए एक नमूना लिया जाता है। अगर इसमें मरीज निगेटिव आता है तो 14 दिन तक घर में क्वारंटीन में रहना पड़ता है। दोनों मरीजों के पॉजिटिव आने के बाद उन्हें दोबारा ग्रेटर नोएडा के जिम्स में भर्ती कर लिया गया है। अब फिर से दोनों मरीजों का नमूना लेकर चौथी बार जांच के लिए भेजे गए हैं। बता दें कि जिला प्रशासन की टीम ने रविवार को 1 लाख 6 हजार 819 लोगों की जांच (स्क्रीनिंग) की। 404 टीम ने 30 हजार से अधिक घरों में जाकर लोगों की स्वास्थ्य संबंधी जानकारी ली। 

इस दौरान विदेश और अन्य राज्यों से आए 80 लोगों की पहचान की गई। इनमें से किसी में भी कोरोना वायरस के प्रभाव के कोई लक्षण नहीं मिले। डीएम सुहास एलवाई ने बताया कि जिले में अब तक 1344 संदिग्ध लोगों के नमूने लिए गए हैं। इसमें से 64 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं। इसमें से 13 मरीजों का इलाज हो चुका है। इन्हीं में से दो मरीजों ठीक होने के बाद संक्रमित हो गए हैं। दोनों का इलाज चल रहा है। शारदा मेडिकल कॉलेज में 4, जिम्स में 16 और सुपर स्पेशलिटी शिशु अस्पताल में 30 मरीजों का इलाज चल रहा है। इसके अलावा 546 लोग इंस्टीट्यूशनल क्वारंटीन किए गए हैं।