कोरोना की वजह से जेल से बाहर आए 2 भाई, जब दोनों पहुंचे गांव तो गाँववालों ने दोनों को मार डाला

दरअसल, असम में कोरोना के संक्रमण की वजह से जेल में बंद दो भाइयों को कैद से आजादी मिल गई थी, लेकिन गांव पहुंचने पर मामूली बात पर उनकी स्थानीय लोगों से लड़ाई हो गई. इस दौरान मामला इतना बढ़ा कि गांव वालों ने इन दोनों भाइयों की कथित रूप से पीट-पीट कर हत्या कर दी. ये वारदात बुधवार को हुई. यह घटना असम के बक्सा जिले की है.
पुलिस के मुताबिक बक्सा जिले के सिमुलगुड़ी के नजदीक अतिबारी गांव में इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया. बक्सा जिले के एसपी थूबे प्रतीक विजय कुमार ने कहा कि ये गांव में दुश्मनी का मामला है और दोनों भाई अपराध में लिप्त थे. उन्होंने कहा कि इस मामले में पुलिस ने कुछ लोगों को गिरफ्तार कर लिया है और बाकियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है.

पुलिस ने वारदात में मारे गए भाइयों की पहचान बिश्वजीत दास और हरधन दास के रूप में की है. बता दें कि देश में कोरोना संक्रमण की वजह से सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकारों को निर्देश दिया था कि कुछ कैदियों को कुछ समय के लिए छोड़ा जाए ताकि जेल में कैदियों की संख्या कम हो इसके साथ ही संक्रमण का खतरा भी कम हो. रिपोर्ट के मुताबिक ये दोनों भाई डकैती और जबरन वसूली के मामलों में शामिल थे और कई महीने तक जेल में रह चुके थे. 

जेल से छूटने के बाद ये दोनों भाई अपने एक रिश्तेदार के घर में रह रहे थे. बुधवार सुबह ही ये अपने पैतृक गांव में लौटे, इसी दौरान इनके बीच और गांव वालों के बीच किसी बात पर झगड़ा हो गया, ये झगड़ा इतना बढ़ा कि गांव वालों ने इनकी हत्या ही कर दी. पुलिस के मुताबिक हत्या की असली वजह का अब तक पता नहीं चल पाया है. हत्या को लेकर गोबर्धन थाना में केस दर्ज कर लिया गया है.